बांग्लादेशः मुल्ला की फांसी के बाद हिंसा में 10 मरे

  • बांग्लादेशः मुल्ला की फांसी के बाद हिंसा में 10 मरे
You Are HereInternational
Sunday, December 15, 2013-5:40 AM

ढाका: बांग्लादेश में जमाते इस्लामी के एक शीर्ष नेता को फांसी देने के बाद भड़की हिंसा में मृतक संख्या आज बढ़कर 10 हो गई। इस्लामी प्रदर्शकारियों ने पश्चिमोत्तर बांग्लादेश में एक संघीय मंत्री के घर को आग लगा दी।

1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में अत्याचारों के लिए ‘‘मीरपुर का कसाई’’ के नाम से कुख्यात अब्दुल कादर मुल्ला को गत गुरूवार की रात में फांसी पर लटका दिया गया। देश के सुप्रीम कोर्ट ने उसकी समीक्षा याचिका खारिज कर दी थी। मुल्ला पहला नेता है जिसे युद्धअपराध में फांसी दी गई।

मुल्ला की फांसी के बाद कई स्थानों पर हिंसा भड़क गई। जमात ने इसे ‘‘राजनीतिक हत्या’’ करार देते हुए इसका बदला लेने की प्रतिज्ञा ली। दक्षिणपूर्वी लक्ष्मीपुर में आज तीन मौतों की सूचना मिली। कल जमात कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ नोआखाली, सतखीरा और जेसौर सहित कई स्थानों पर झड़प होने से सात व्यक्तियों की मौत हो गई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You