पाकिस्तान में कुरान पढऩे पर ब्रितानी डाक्टर को जेल

  • पाकिस्तान में कुरान पढऩे पर ब्रितानी डाक्टर को जेल
You Are HereInternational
Monday, December 16, 2013-2:48 PM

लाहौर: पाकिस्तान में एक 72 वर्षीय ब्रितानी डाक्टर को कुरान की आयतें पढऩे के कारण जेल में डाल दिया गया है। अहमदी मुस्लिम संप्रदाय से ताल्लुक रखने वाले मसूद अहमद के बड़े भाई नासिर अहमद ने बताया कि पिछले महीने उसके पास कुछ लोग आए जिनमें एक मरीज था। उसने कहा ‘आप मेरे पिता समान हैं। मेरी कुछ शंकाओं का समाधान कीजिए। जब (मेरे भाई ने) जवाब देना शुरू किया तो वे उसे मारने लगे और गर्दन पकड़कर घसीटते हुए बाहर ले गए।’ बाद में पता चला कि उसने अपने जवाब में कुरान की कुछ आयतों का जो उल्लेख किया था, उसकी उन लोगों ने छिपे हुए कैमरे से रिकार्डिंग कर ली थी।

पाकिस्तान के वर्तमान कानून के मुताबिक अहमदी समुदाय को मुसलमान का दर्जा प्राप्त नहीं है और उनके लिए कुरान पढऩा या ‘मुसलमानों की तरह व्यवहार करना’ गैर कानूनी है। ऐसा करने पर उन्हें तीन साल तक की जेल की सजा हो सकती है। मसूद को पिछले महीने ही गिरफ्तार कर लिया गया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You