विज्ञानिकों का दावा, कान छेदने से होगा वजन कम

  • विज्ञानिकों का दावा, कान छेदने से होगा वजन कम
You Are HereInternational
Wednesday, December 18, 2013-12:58 AM

लंदनः कोरियाई अनुसंधानकर्ताओं ने कान छेदने से वजन कम होने का दावा किया है। इस अध्ययन के बारे में दिए गए बयान में कोरियाई अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि उन्होंने 91 लोगों पर अध्ययन में पाया कि कान के बाहरी हिस्से को छेदने से वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

इन लोगों को तीन वर्गों में बांटा गया। एक वर्ग के लोगों के कान के बाहरी हिस्से पर पांच जगह छेदा गया, दूसरे वर्ग के लोगों के कान में एक जगह छेदन किया गया जबकि तीसरे वर्ग के लोगों के कान छेदे ही नहीं गए। अध्ययन के दौरान तीनों ही वर्गों के लोगों को एक समान खाना और निर्देश दिए गए। इन तीनों वर्गां मे शामिल लोगों के वजन का आकलन चार सप्ताह बाद किया गया तो उनके वजन में काफी अंतर देखने को मिला।

जिस वर्ग के लोंगों के कान मे पांच छेद किए गए थे उनका वजन कम देखा गया। दूसरी ओर जिस वर्ग के लोगों के कान छेदे नहीं गये थे उस वर्ग के लोगों के वजन में कोई अंतर नहीं आया। अध्ययन में पाया गया कि कान नहीं छेदे गए लोगों की तुलना में बाकी दो वर्गों के लोगों के वजन में केवल चार सप्ताह में ही काफी अंतर देखने को मिला। इस अनुसंधान के साथ दी गई अतिरिक्त सूचना में बताया गया है कि कान छेदन चिकित्सा पद्धति के बारे में सबसे पहले 1956 में फ्रांस के एक चिकित्सक द्वारा दी गयी जानकारी के आधार पर ही अनुसंधान को किया गया है।

फ्रांसीसी चिकित्सक ने एक मरीज का इलाज कान के बाहरी हिस्से को जलाकर किया था जिसके बाद यह माना गया था कि कान के बाहरी हिस्से से पूरे शरीर का नियंत्रण होता है। दूसरी ओर कोरिया में किए गए इस अध्ययन और इसकी प्रमाणिकता पर ब्रिटेन के अनुसंधानकर्ताओं ने सवाल उठाए हैं। ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी आफ एक्सेटर के एक प्रोफसर एडजर्ड अर्नेस्ट ने इस अध्ययन और इसके परिणामों पर सवाल उठाते हुए कहा, इस तरह से इलाज के दावे विश्वसनीय नजर नहीं आ रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You