मिस्र में मुर्सी के खिलाफ चलेगा जेल तोडऩे और हत्या का मुकदमा

  • मिस्र में मुर्सी के खिलाफ चलेगा जेल तोडऩे और हत्या का मुकदमा
You Are HereInternational
Saturday, December 21, 2013-11:36 PM

काहिरा: मिस्र के अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी और 132 अन्य लोगों के खिलाफ वर्ष 2011 में हुए सरकार विरोधी प्रदर्शन के दौरान जेल तोडऩे और पुलिस अधिकारियों की हत्या का मुकदमा चलेगा।

यह जन विद्रोह मिस्र में होस्नी मुबारक के लगभग तीन दशकों के शासन की समाप्ति का कारण बना था। वर्ष 2012 के दिसंबर में राष्ट्रपति भवन में प्रदर्शनकारियों की हत्या के लिए उकसाने और विदेशी समूहों के साथ मिलकर आंतकवादी गतिविधियों की साजिश रचने एवं जासूसी के मामले में पहले से मुकदमों का सामना कर रहे मुर्सी के खिलाफ यह तीसरा मुकदमा चलेगा।

इस वर्ष जुलाई महीने में मुर्सी के अपदस्थ होने के बाद मुस्लिम ब्रदरहुड के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के बीच न्यायाधीश हसन समीर ने आज एक आपराधिक अदालत को 28 जनवरी, 2011 में वादी अल नतरौन जेल से कैदियों के भागने के मामले में मुर्सी और उनके 132 सह प्रतिवादियों के खिलाफ मुकदमा चलाने का निर्देश दिया है। इन लोगों में फलस्तीनी समूह हमास, लेबनानी संगठन हिजबुल्ला और मुस्लिम ब्रदरहुड के सदस्य शामिल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You