रूस के राजनीतिक बंदियों के लिए संघर्ष करेंगे खोदरोव्स्की

  • रूस के राजनीतिक बंदियों के लिए संघर्ष करेंगे खोदरोव्स्की
You Are HereInternational
Monday, December 23, 2013-2:27 AM

बर्लिनः रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से क्षमा मिलने के बाद बर्लिन पहुंचे तेल कारोबारी मिखाइल खोदरोव्स्की ने आज कहा कि वह रूस के राजनीतिक बंदियों की रिहाई के लिए संघर्ष करेंगे। श्री खोदरोव्स्की ने बर्लिन में संवाददाताओं से कहा कि वह सत्ता के लिए संघर्ष नहीं करेंगे लेकिन वह अन्य राजनीतिक बंदियों की रिहाई के लिए श्री पुतिन पर दबाव बनाएंगे और विश्व भर के नेताओं को भी ऐसा करने की अपील करेंगे।

उन्होंने कहा, यह काम कैसे हो इस पर में कोई सुझाव नहीं दूंगा लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि पश्चिमी देशों के नेता इस बात को याद रखें कि मैं रूस में इकलौता राजनीतिक बंदी नहीं था। रिहाई के बाद कल अपने घर पहुंचे तेल कारोबारी ने बताया कि रिहा होने के बाद तत्काल रूस छोडने का निर्णय उनका नहीं था। उन्होंने बताया, मुझे अचानक सुबह दो बजे जगा कर जेल प्रमुख
ने कहा कि मुझे घर भेजा जा रहा है।

यात्रा के दौरान मैंने देखा कि मैं जर्मनी के विमान पर सवार हूं और मेरी यात्रा बर्लिन में जा कर समाप्त हुई। गौरतलब है कि कर चोरी और धोखाधडी के आरोप में 10 साल तक कैद में रहे तेल कारोबारी को माफ करने की घोषणा करके श्री पुतिन ने देश की जनता को चौंका दिया था। हालांकि जानकारों का मानना है कि श्री पुतिन के विरोधियों को धन देने से खफा राष्ट्रपति ने उन्हें जेल में डलवा दिया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You