अब चीनी अधिकारियों के क्लब जाने पर लगी रोक

  • अब चीनी अधिकारियों के क्लब जाने पर लगी रोक
You Are HereInternational
Tuesday, December 24, 2013-3:49 PM

बीजिंग: चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने अपने अधिकारियों के प्राइवेट क्लबों में जाने पर रोक लगा दी है। पार्टी का कहना है कि प्राइवेट क्लबों का उपयोग गैर-कानूनी धंधों तथा यौन सम्पर्क के लिए किया जाता है। पार्टी ने यह कदम भ्रष्टाचार दूर करने के अपने अभियान के अन्तर्गत उठाया है।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सत्ता में आने के बाद से भ्रष्टाचार के विरद्ध व्यापक आक्रामक अभियान चला रखा है, ताकि भ्रष्टाचार में लिप्त बड़े और छोटे हर तरह के लोगों को कानून की गिरफ्त में लाया जा सके। उनका कहना है कि यह समस्या इतनी गंभीर है कि अगर इसके हल के लिए कार्रवाई नहीं की गई तो पार्टी सत्ता से ही बेदखल हो सकती है।

उन्होंने बड़ी दावतों से लेकर अंतिम संस्कार के समय तक की फिजूल खर्ची के विरद्ध कार्रवाई का आदेश दे रखा है। अब उनका ध्यान निजी क्लबों की ओर गया है, जिन्होंने चीन के बड़े शहरों में अपना जाल फैला दिया है। पार्टी के अनुशासन तथा निगरानी संबंधी केन्द्रीय कमीशन की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है कि जो अधिकारी इन क्लबों में जाएंगे, उन्हें कड़ा दंड भुगतना पड़ेगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You