वेश्यावृत्ति मामले में भारतीय मूल के व्यक्ति को ब्रिटेन में सजा

  • वेश्यावृत्ति मामले में भारतीय मूल के व्यक्ति को ब्रिटेन में सजा
You Are HereInternational
Thursday, December 26, 2013-1:01 PM

लंदन: ब्रिटेन की एक अदालत ने मानव तस्करी और वेश्यावृत्ति कराने के आरोप में भारतीय मूल के एक व्यक्ति सहित पांच लोगों को सजा सुनाई है। अदालत ने पिछले सप्ताह एक महिला को हंगरी से ब्रिटेन लाकर उससे जबरदस्ती शादी करने और वेश्यावृत्ति कराने के आरोप में 31 वर्षीय रमेश को दोषी ठहराते हुए ढाई वर्ष की सजा दी है।

महिला ने स्काटलैंड पुलिस को बताया था कि उसे मार्च 2010 में लंदन लाकर उससे  वेश्यावृत्ति कराई जा रही है। जांच में यह बात सामने आई कि महिला को बेरहमी से मारा पीटा जाता था और दिखावटी शादी के लिए उसे मजबूर किया गया।

पुलिस ने रमेश माली के अलावा सैंडर जोनास, अनीता विक्टोरिया मौले और उसके भाई विक्टर मौले के साथ नकली शादी कराने वाले वकील चिका आइक माइकल को भी गिरफ्तार किया। अदालत ने जोनास को 10 वर्ष, अनीता को 11 वर्ष, विक्टर को साढ़े 5 वर्ष और माइकल को 4 वर्ष कैद की सजा सुनाई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You