अब चीन में नि:संतान दंपतियों को मिलेगा मुआवजा

  • अब चीन में नि:संतान दंपतियों को मिलेगा मुआवजा
You Are HereInternational
Thursday, December 26, 2013-4:25 PM

बीजिंग: चीन के स्वास्थ्य एवं परिवार नियोजन विभाग ने उन परिवारो को तीन गुना अधिक मुआवजा देने का फैसला किया है जिन्होने देंश की (एकल संतान) नीतियों के कारण अपने एकमात्र बच्चे को किसी कारणवश खो दिया है।
 
चीन ने अपनी बेकाबू होती जनसंख्या पर नियंत्रण के लिए 1980 से ही एक संतान की नीति अपनाई थी। स्वास्थ्य एवं परिवार नियोजन विभाग के बयान के अनुसार,  इस नए कार्यक्रम के लागू होने के बाद शहर में रहने वाले उन दंपत्तियो को जिन्होने 49 वर्ष या उससे अधिक उम्र मे अपनी इकलौती संतान को खोया है, उन्हे 340 युयान या 3470 रूपय, जबकि ग्रामीण क्षेत्रो मे रहने वाले परिजनो को 170 युयान मिलेंगे। इससे पहले यह राशि 100 युआन थी।

लाभान्वित को यह सुविधा चीन मे (एक संतान की नीति) के लागू होने के बाद चीन में निस्संतान दंपतियों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। सरकारी आंकड़ो के अनुसार, इस कार्यक्रम के बाद देश में चालीस करोड़ बच्चे कम पैदा हुए। चीन के पारंपरिक रीति रिवाजो के तहत बच्चों को माता-पिता के बुढ़ापे का सहारा माना जाता है। माता-पिता वृद्धावस्था मे बच्चे नही होने के कारण तमाम सामाजिक और आर्थिक परेशानियों का सामना करते है।

इस कारण गत मई में सरकारी नीतियों के कारण लाखो की संख्या में इस सुख से वंचित हुए लोगों में लगभग 400 हिम्मती चीनी नागरिको ने सरकार के इस रवैये के विरोध मे राजधानी के स्वास्थ्य एवं परिवार नियोजन विभाग के मुख्यालय के सामने ह्नरदर्शन किया था। चीन की साम्यवादी सरकार ने चालू माह में पिछले तीन दशकों से चली आ रही जनसंख्या नीति में परिवर्तन करने का फैसला किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You