देवयानी मामला: पावेल ने नववर्ष के संदेश में खेद जताया

  • देवयानी मामला: पावेल ने नववर्ष के संदेश में खेद जताया
You Are HereNational
Tuesday, December 31, 2013-8:06 PM

नई दिल्ली: अमेरिका की राजदूत नैंसी पावेल ने नव वर्ष पर दिए गए संदेश में भारतीय उपमहावाणिज्य दूत देवयानी खोबरागडे की गिरफ्तारी की ‘‘परिस्थितियों’’ पर खेद जताया है। हालांकि दोनों देश इस मुद्दे को लेकर अपने-अपने रूख पर अड़े हुए हैं। इस मुद्दे पर भारत की तरफ से उठाए गए कदम के फलस्वरूप पॉवेल एवं अन्य अमेरिकी राजनयिकों के अतिरिक्त विशेषाधिकार खत्म कर दिए गए हैं।

पॉवेल ने कहा, ‘‘विदेश मंत्री केरी ने वाणिज्य दूतावास की अधिकारी की गिरफ्तारी की परिस्थितियों पर खेद जताया है लेकिन हमारा मानना है कि हम अपने द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने पर गौर करते रहेंगे।’’ भारत और अमेरिका के बीच कई क्षेत्रों में विभिन्न ‘‘प्रभावी प्रगतियों’’ का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ‘‘आपके वाणिज्य दूतावास की एक अधिकारी और उनकी नौकरानी के मुद्दे पर अलग-अलग प्रतिक्रिया से आगे की प्रगतियों को झटका लगा है।’’

भारत लगातार मांग कर रहा है कि खोबरागडे के खिलाफ बिना शर्त मामला वापस लिया जाए। 1999 बैच की आईएफएस अधिकारी 39 वर्षीय खोबरागडे को 12 दिसम्बर को अपनी नौकरानी को कम वेतन देने और दस्तावेजों के अनुबंध में फर्जीवाड़े के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। राजनयिक की गिरफ्तारी एवं उनके साथ हुए दुव्र्यवहार को लेकर भारत में गुस्सा उबल पड़ा और भारत ने अमेरिका से माफी मांगने एवं उनके खिलाफ सभी आरोपों को वापस लेने की मांग की। बहरहाल न्यूयॉर्क में कल अमेरिकी सूत्रों ने बताया कि खोबरागडे के खिलाफ मामला वापस लिए जाने का सवाल ही नहीं है। वास्तव में वे 13 जनवरी तक उन्हें अभ्यारोपित करने के रूख पर कायम हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You