करगिल मामले में जांच होनी चाहिए: पाक रक्षा मंत्री

  • करगिल मामले में जांच होनी चाहिए: पाक रक्षा मंत्री
You Are HereInternational
Thursday, January 02, 2014-10:28 AM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा है कि करगिल मामले में जांच होनी चाहिए और पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ और उनके तत्कालीन सहयोगियों के खिलाफ 1999 के सत्ता पलट के लिए मामला दर्ज किया जाना चाहिए। आसिफ ने पूर्व राष्ट्रपति पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और कहा कि मुशर्रफ के घर के पास पूर्व राष्ट्रपति के समर्थकों ने ही बम लगाये थे।

जब उनसे पूछा गया कि क्या 70 वर्षीय मुशर्रफ पर 1999 के सत्ता परिवर्तन के लिए मुकदमा चलाना चाहिए तो आसिफ ने कहा कि यह उनकी निजी राय है कि मुकदमा चलना चाहिए। आसिफ ने कहा, ‘सरकार मुशर्रफ को उनके फार्महाउस में रखकर उदारता दिखाती है। पहले नवाज शरीफ और पीएमएल-एन के नेताओं को एटोक फोर्ट में सलाखों के पीछे रखा गया था।’

मुशर्रफ के घर के आसपास बार-बार बम मिलने के बारे में पूछे जाने पर रक्षा मंत्री ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति के पास बेशुमार संसाधन हैं। उन्होंने कहा, ‘अब मुशर्रफ लोगों को खरीद रहे हैं और इस तरह की गतिविधियों के पीछे उनका ही हाथ है। मुशर्रफ के समर्थक भाड़े के लोग हैं। मुशर्रफ को बचाने के लिए लूटे धन का इस्तेमाल किया जा रहा है। जब उनसे पूछा गया कि मुशर्रफ के खिलाफ भ्रष्टाचार का कोई मामला दर्ज क्यों नहीं किया गया तो उन्होंने कहा, ‘‘रिकार्ड के लिए, जहां तक भ्रष्टाचार की बात है, मुशर्रफ के खिलाफ मामले दर्ज होने चाहिए।

मुझे लगता है कि मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह का मामला सबसे बड़ा है और अगर यह साबित हो जाता है तो काफी है।’ उन्होंने कहा, ‘‘मुशर्रफ के पास दुबई और लंदन में अरबों डॉलर की संपत्ति है। उन्होंने बेशकीमती जायदाद कैसे कमाई।’ मुशर्रफ ने हाल ही में एक टीवी विज्ञापन में दिये गये इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें इस बात की खुशी है कि उन पर किसी ने भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगाया।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You