अनोखी चोरी! कुछ नहीं मिला तो चुरा लिए दिमाग

  • अनोखी चोरी! कुछ नहीं मिला तो चुरा लिए दिमाग
You Are HereInternational
Saturday, January 04, 2014-11:33 AM

नई दिल्ली: आपने चोरी के बारे में तो आए दिनों बहुत बार सुना होगा कि चोर बहुत सारी चीजे जैसे जवाहरात और नगदी आदि ले गया है। लेकिन क्या आपने कभी ये सुना है कि चोर ने दिमाग ही चोरी करके बेच दिया। इस मामले में कुछ ऐसा ही हुआ है।

हफपोस्‍ट की खबर के अनुसार, डेविड चार्ल्स नाम के शख्स पर मानव दिमाग को चुराने का आरोप है। डेविड ने यह दिमाग इंडियाना मेडिकल हिस्ट्री म्यूजियम से चुराया। उसने केवल म्यूजियम से दिमाग चोरी ही नहीं किया, बल्कि उन्हें ऑन लाइन शॉपिंग साइट ई-बे पर बेच भी दिया।

अधिकारियों का कहना है कि डेविड ने ये सुरक्षित मस्तिष्क म्‍यूजियम से चोरी किए, जोकि मानसिक रोगियों के थे। यह दिमाग इस म्यूजियम में कई सालों से थे। इसके बाद पुलिस ने अपनी जांच पड़ताल शुरू की और उन्हें ई-बे की इस डील के बारे में पता चला, जिसमें छह जार के हिसाब से प्रति जार की कीमत 100 डॉलर रखी गई।

पुलिस ने चार्ल्स को एक स्टिंग ऑपरेशन के तहत पकड़ा। उन्होंने दिमाग की खरीदारी के लिए उससे संपर्क किया और उससे डेयरी क्वीन के पास मिले। इस पूरी प्रक्रिया के बाद म्यूजियम को अपने ज्यादातर दिमाग मिल गए हैं। ये दिमाग 1848 से 1994 के बीच इलाज किए गए मरीजों के थे। चार्ल्स पर म्यूजियम में चोरी करने का आरोप है। पुलिस को जांच के दौरान उसके पास से ड्रगस भी बरामद हुई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You