भारतीय उच्चायुक्त ने की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता से मुलाकात

  • भारतीय उच्चायुक्त ने की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता से मुलाकात
You Are HereNational
Saturday, January 04, 2014-5:10 PM

इस्लामाबाद: क्रिकेटर से राजनीतिज्ञ बने इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने भारत और पाकिस्तान के बीच के सभी लंबित विवादों के शांतिपूर्ण समाधानों के लिए वार्ता और समझौतों को जरूरी बताया है। भारतीय उच्चायुक्त टी.सी.ए. राघवन ने कल पार्टी के उपाध्यक्ष शाह महमूद कुरैशी को बुलाया। इस मुलाकात के दौरान क्षेत्र के पारस्परिक हितों, द्विपक्षीय संबंधों और भू-राजनैतिक स्थिति पर व्यापक चर्चा की गई।

पार्टी की ओर से कल रात जारी किए गए बयान के अनुसार, कुरैशी ने पीटीआई के अध्यक्ष की हालिया भारत यात्रा की ओर इशारा करते हुए कहा कि पार्टी वार्ता और समझौते के जरिए पाकिस्तान और भारत के बीच संबंधों में सुधार करने और परमाणु क्षमता संपन्न दोनों पड़ोसी देशों के बीच चले आ रहे विवादों का शांतिपूर्ण हल निकालने में यकीन रखती है।

इसमें कहा गया, ‘‘उपाध्यक्ष ने अफगानिस्तान से नाटो और आईएसएएफ बलों की वापसी के कार्यक्रम और इस परिवर्तन के बाद क्षेत्र में शांति व स्थायित्व के लिए क्षेत्रीय रणनीति की संभावना पर भी चर्चा की।’’ कार्यालय की ओर से कहा गया कि राज्य पुलिस और सेना की 27वीं इंफेंट्री बटालियन ने जेल के दरोगा और पहरेदारों की मदद की और जेल पर दोबारा नियंत्रण कर लिया। राज्य के अटॉर्नी जनरल कार्यालय की ओर से कहा गया, ‘‘जांचकर्ता इसकी जांच कर रहे हैं कि हमले के पीछे किसी जेलकर्मी का हाथ तो नहीं था।’’

दोनों पक्षों के बीच पानी की समस्या को हल करने पर जोर देते हुए कुरैशी ने कहा कि इस मुद्दे के महत्व को देखते हुए दोनों ही देशों के नेतृत्व को जल वितरण की एक समग्र, न्यायसंगत और व्यवहारिक प्रक्रिया निकालनी चाहिए। उन्होंने नियंत्रण रेखा के आसपास किशनगंगा बांध समेत अन्य बांध बनाने के बारे में पार्टी का रख भी स्पष्ट किया। इस बैठक में पाक-ईरान गैस पाइपलाइन परियोजना पर भी चर्चा हुई। इस चर्चा के दौरान इस बात पर सहमति बनी कि यह परियोजना तीनों देशों ईरान, पाकिस्तान और भारत के लिए फायदेमंद है।

दोनों पक्षों ने हाल ही में हुई सैन्य संचालन महानिदेशकों की बैठक को एक सकारात्मक परिवर्तन माना और इसके नतीजे पर संतुष्टि जाहिर की।  बयान में कहा गया, ‘‘राघवन ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ और इसके नेतृत्व की क्षेत्र में शांति को बढ़ावा देने की सोच की सराहना की। इसके साथ ही उन्होंने अध्यक्ष इमरान खान की विवादों को वार्ता व समझौतों के जरिए सुलझाने वाले विचारों की भी सराहना की।’’
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You