जापान अपने पड़ोसियों के साथ संबंध सुधारेः अमेरिका

  • जापान अपने पड़ोसियों के साथ संबंध सुधारेः अमेरिका
You Are HereInternational
Sunday, January 05, 2014-5:23 PM

टोक्यो: जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे द्वारा एक विवादास्पद युद्ध स्मारक का दौरा करने से उपजे विवाद के मद्देनजर अमेरिका के रक्षा मंत्री चक हेगल ने जापान से अपने पड़ोसी देशों से संबंध सुधारने को कहा है। प्रधानमंत्री के रूप में अबे ने 26 दिसंबर को जापान में बने यासुकुनी युद्ध स्मारक का पहली बार दौरा किया। उनके इस दौरे से चीन और दक्षिण कोरिया अप्रसन्न हो गया। यह युद्ध स्मारक द्वितीय विश्व युद्ध में मारे गए लोगों की याद में बनाया गया जिनमें कई ऐसे भी लोग हैं जिनको युद्ध अपराधों के कारण मृत्युदंड दिया गया था।

इसी वजह से अबे का यह कदम चीन और दक्षिण कोरिया को रास नहीं आया और उन्होंने इस बात पर अपनी नाराजगी व रोष व्यक्त किया। पेंटागन पे्रस सचिव जॉन किर्बी ने कल अमेरिकी रक्षा विभाग की वेवसाइट पर जारी एक बयान में कहा, रक्षा मंत्री हेगल ने इस बात पर बल दिया कि जापान अपने पड़ोसी देशों से संबंध सुधारने के साथ-साथ क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए आपसी सहयोग को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए। यह बयान हेगल और जापान के रक्षा मंत्री इतसुनोरी ऑनोडेरा के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत के बाद जारी किया गया।

चीन सहित कई अन्य एशियाई देशों का कहना है कि यह युद्ध स्मारक विवादित है, क्योंकि यह जापान के 20वीं सदी के आक्रमण को याद दिलाता है। इसके अलावा यह जापान और इसके पड़ोसी देशों के बीच रिश्तों में दरार का भी एक स्रोत है। इस स्थल के दर्शन के बाद अबे को अमेरिकी आलोचनाओं को भी झेलना पड़ा।

क्योदो समाचार एजेंसी ने जापानी अधिकारियों के हवाले से खबर दी है कि अबे की इस विवादास्पद स्थल के दर्शन के संदर्भ में कल देर रात हुई बातचीत में ऑनोडेरा ने हेगल को यह कहते हुए आश्वासन दिया कि जापानी प्रधानमंत्री ने फिर से यह प्रतिद्धतता जतायी है कि उनका देश कभी भविष्य में युद्ध नहीं छेड़ेगा। किर्बी ने कहा कि हेगल ने जापान की सरकार द्वारा द्वीप में स्थित मरीन कोर एयर बेस को पुनस्र्थापित करने के मकसद से उठाए गए प्रयासों के लिए उसे धन्यवाद भी दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You