मस्तिष्क संबंधी प्रक्रियाओं पर शोध करेंगे रजाक

  • मस्तिष्क संबंधी प्रक्रियाओं पर शोध करेंगे रजाक
You Are HereInternational
Tuesday, January 07, 2014-6:24 PM

ह्यूस्टन (अमेरिका): अमेरिका में भारतीय मूल के न्यूरो वैज्ञानिक खलील रजाक को मस्तिष्क संबंधी प्रक्रियाओं पर शोध के लिए 8,66,902 डॉलर का पांच वर्षीय अनुदान दिया गया है। ‘नेशनल साइंस फाउंडेशन’ (एनएसएफ) ने रजाक को ‘फैकल्टी अर्ली करियर डेवलपमेंट प्रोग्राम’ के तहत शोध आगे बढ़ाने के लिए अनुदान दिया है। उन्होंने इस बात का अध्ययन किया है कि मस्तिष्क रोजमर्रा की आवाजों पर कैसे काम करता है और किस तरह इसका इस्तेमाल लंबे समय से चली आ रही श्रवण संबंधी समस्याओं तथा ‘फ्रैजाइल एक्स सिंड्रोम’ के उपचार तैयार करने में किया जा सकता है।

मूल रूप से चेन्नई निवासी रजाक कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान और तंत्रिका विज्ञान के सहायक प्रोफेसर हैं। यहां स्थित उनकी प्रयोगशाला इस बात का अध्ययन करती है कि किस तरह मस्तिष्क को सुनने वाला हिस्सा आवाजों के लिए प्रतिक्रिया देता है और किस तरह इनमें अनुभव, बीमारी और उम्र बढऩे के साथ बदलाव आता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You