ओबामा प्रशासन में संकट और विवाद का स्रोत बना राजनयिक मामला: मीडिया

  • ओबामा प्रशासन में संकट और विवाद का स्रोत बना राजनयिक मामला: मीडिया
You Are HereInternational
Wednesday, January 08, 2014-4:27 PM

वाशिंगटन: न्यूयार्क में वीजा धोखाधड़ी के आरोपों में भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागड़े की गिरफ्तारी का मुद्दा ओबामा प्रशासन में एक बड़े संकट और विवाद का स्रोत बन गया है।

समाचार पत्र ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘देवायानी खोबरागड़े के खिलाफ वीजा धोखाधड़ी का मामला अमेरिका-भारत संबंधों को प्रभावित कर रहा है और इसने नया कानूनी विवाद खड़ा कर दिया है। समाचार पत्र ने इस मुद्दे को दोनों देशों के बीच एक बड़ा संकट बताया है।’’

समाचार पत्र ने कहा, ‘‘गत महीने न्यूयार्क में भारत की उप महावाणिज्य दूत 39 वर्षीय देवयानी खोबरागड़े की वीजा धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तारी भारत-अमेरिका संबंधों में एक बड़ा संकट और ओबामा प्रशासन में एक विवाद का स्रोत बन गया है।’’

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार, एक बार खोबरागड़े के खिलाफ अदालत में अभियोग दायर हो जाने पर इस मामले को कूटनीतिक रूप से सुलझाने के अमेरिकी विदेश मंत्रालय और भारत सरकार के प्रयास अधिक मुश्किल हो जाएंगे। देवयानी ने स्पष्ट रूप से अपनी सारी उम्मीदें उस कदम पर टिका रखी हैं।

समाचार पत्र में कहा गया है कि देवयानी के दोषी करार होने पर उनकी भविष्य की योजनाएं प्रभावित हो सकती हैं, जिससे अमेरिका की यात्रा करना या वहीं पर निवास करना शामिल है। ‘द अमेरिकन इंट्रेस्ट’ में प्रकाशित एक अन्य लेख में कहा गया है कि इस विवाद का दोनों पक्षों के संबंध पर दीर्घकालिक प्रभाव हो सकता है।

गौरतलब है कि भारतीय विदेश सेवा की 1999 बैच की अधिकारी देवयानी खोबरागड़े को गत वर्ष 12 दिसम्बर को अपनी नौकरानी संगीता रिचर्ड के वीजा आवेदन में झूठी घोषणा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में उन्हें ढाई लाख डॉलर की जमानत पर रिहा कर दिया गया। भारत देवयानी के खिलाफ मामले को वापस लेने, उनकी गिरफ्तारी के बाद उनकी कपड़े उतारकर तलाशी लेने और उन्हें अपराधियों के साथ बंद करने के लिए अमेरिका से माफी की मांग कर रहा है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You