हिंदुओं पर हमले रोकें: बांग्लादेश निर्वाचन आयोग

  • हिंदुओं पर हमले रोकें: बांग्लादेश निर्वाचन आयोग
You Are HereInternational
Saturday, January 11, 2014-7:22 PM

ढाका: बांग्लादेश के निर्वाचन आयोग ने आज कानून प्रवर्तन एजेंसियों से देशभर में सुरक्षा मजबूत करने को कहा ताकि अल्पसंख्यकों और खास तौर पर हिंदुओं पर हमले रोके जा सकें। मुख्य निर्वाचन आयुक्त काजी रकीबुद्दीन अहमद ने कहा, ‘‘हमने कानून प्रवर्तन एजेंसियों से 5 जनवरी के संसदीय चुनाव को लेकर देश के विभिन्न भागों में अल्पसंख्यक समुदायों पर हमले रोकने को कहा है।’’

अहमद ने 16 जनवरी को आठ चुनाव क्षेत्रों में होने वाले पुनर्मतदान के दौरान कानून और व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में विचार विमर्श के लिए सुरक्षा एजेंसियों की बैठक बुलाई थी। द डेली स्टार अखबार ने अहमद के हवाले से कहा कि कानून का पालन करवाने वाली एजेंसियां इस तरह के हमले रोकने के लिए पूरी तरह मुस्तैद है। चुनाव से पहले और बाद में मुख्य विपक्षी पार्टी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी और उसके दक्षिणपंथी सहयोगी संगठन जमात-ए-इस्लामी के कार्यकर्त्ताओं ने राजशाही, दिनाजपुर, ठाकुरगांव, पंचगढ़ और जेसोर जिलों में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों पर हमले किए।

खबरों में कहा गया है कि विपक्षी कार्यकर्त्ताओं ने आवामी लीग का समर्थन करने पर हिंदुओं को अपना निशाना बनाया। बीएनपी की अगुवाई में विपक्षी गठबंधन के बहिष्कार के कारण आवामी लीग ने इन चुनावों में भारी सफलता हासिल की। विपक्षी कार्यकर्त्ताओं ने हिंदुओं के घरों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों और दुकानों में लूटपाट और आगजनी की। द डेली स्टार की खबरों के अनुसार मंगलवार को अज्ञात लोगों ने जेसोर में वोट डालने पर दो महिलाओं के साथ उनके परिजन के सामने बंदूक के जोर पर बलात्कार किया।

प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अल्पसंख्यकों पर हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। उन्होंने हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के लिए अपनी परंपरागत प्रतिद्वंद्वी बीएनपी प्रमुख खालिदा जिया को जिम्मेदार ठहराया। सरकार ने इस हफ्ते हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की साजिश रचने वालों को आतंकवाद निरोधक कानून के तहत सजा दिलाने के लिए विशेष पंचाट गठित करने का फैसला किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You