पाकिस्तान: कार्यकर्त्ताओं पर हमले से पोलियो अभियान में बाधा

  • पाकिस्तान: कार्यकर्त्ताओं पर हमले से पोलियो अभियान में बाधा
You Are HereInternational
Saturday, January 11, 2014-9:41 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के खैबर एजेंसी इलाके के लगभग 70 स्वास्थ्य कार्यकर्त्ताओं ने सुरक्षा कारणों के चलते पोलियो टीकाकरण अभियान में हिस्सा लेने से मना कर दिया है। इससे पाकिस्तान के कबायली इलाके में पोलियो को जड़ से नष्ट करने के प्रयासों में बाधा आ रही है। अफगानिस्तान, नाइजीरिया और पाकिस्तान दुनिया के वे तीन देश हैं जहां पोलियो अभी भी मौजूद है।

2011 में पाकिस्तान में पोलियो के 173 मामले दर्ज किए गए जिसके बाद 2012 में सरकार ने पोलियो उन्मूलन अभियान तेज कर दिया और तब यहां पोलियो के 58 मामले थे। चार दिसंबर 2013 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल पाकिस्तान में पोलियो के लगभग 72 मामले सामने आए थे।

समाचारपत्र डॉन ने स्वास्थ्य कार्यकर्त्ताओं के प्रवक्ता हाजी सदीक के हवाले से कहा, ‘‘हम खतरा महसूस करते हैं और पिछले महीने हमारे सहकर्मियों की हत्या के बाद हर कोई भयभीत है।’’ कार्यकर्त्ताओं ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की उपस्थिति के कारण घर-घर जाकर अभियान चलाना उनके लिए संभव नहीं। प्रवक्ता ने कहा कि अगर कार्यकर्ताओं पर दबाव डाला जाएगा तो वे अपनी नौकरी छोडऩे को भी तैयार हैं।

गौरतलब है कि तालिबान आतंकवादियों ने पाकिस्तान में पोलियो कार्यकर्ताओं पर लगातार हमले किए हैं। सुरक्षा खतरों से जूझ रहे स्वास्थ कार्यकर्ताओं और पोलियो टीकाकरणकर्ताओं ने देश के कबायली इलाकों में जाने से मना कर दिया है जिससे सरकार के पोलियो को जड़ से नष्ट करने के प्रयासों में बाधा आ रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You