शेरोन के निधन पर मनमोहन ने शोक प्रकट किया

  • शेरोन के निधन पर मनमोहन ने शोक प्रकट किया
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-5:02 PM

नई दिल्ली: प्रधामनंत्री मनमोहन सिंह ने इजरायल के पूर्व प्रधानमंत्री एरियल शेरोन के निधन पर आज शोक प्रकट किया। उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों को प्रोत्साहन देने में उनके योगदान को लंबे समय तक याद किया जाएगा। इजरायल प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को लिखे पत्र में सिंह ने कहा कि शेरोन ने इजरायल में बेहद महत्वपूर्ण योगदान दिया और क्षेत्र में शांति लाने के लिए साहसिक कदम उठाए।

उन्होंने कहा, ‘एरियल शेरोन के निधन की बात जानकर मैं बेहद दुखी हूं। लोक सेवा में अपने लंबे कैरियर के दौरान शेरोन ने इजरायल के लिए बेहद महत्वपूर्ण योगदान दिया। शोक की इस घड़ी में कृपया हमारी हार्दिक संवेदना और सहानुभूति को स्वीकार करें।’ शेरोन का 11 जनवरी को 85 साल की उम्र में निधन हो गया। उनका निधन आठ साल तक कोमा में रहने के बाद हुआ। कट्टरपंथी शेरोन को उनके देशवासी ‘मिस्टर सिक्युरिटी’ कहते थे जबकि समूचे अरब जगत में उन्हें ‘साबरा और शातिला का कसाई’ कहा जाता था।

शेरोन की सितंबर 2003 में भारत यात्रा को याद करते हुए सिंह ने कहा कि वह इस्राइल के पहले प्रधानमंत्री थे जिन्होंने भारत की यात्रा की थी। सिंह ने कहा, ‘प्रधानमंत्री के तौर पर उन्होंने क्षेत्र में शांति लाने के लिए साहसिक कदम उठाए। भारत में हम उन्हें इस्राइल के पहले प्रधानमंत्री के तौर पर याद करते हैं जिसने सितंबर 2003 में भारत की यात्रा की थी।

हमारे द्विपक्षीय संबंधों को प्रोत्साहन देने में उनके टिकाउ योगदान को लंबे समय तक याद किया जाएगा।’ शेरोन साल 2001 में प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए थे और दिल का दौरा पडऩे के बाद 4 जनवरी 2006 को वह कोमा में चले गए थे। नववर्ष के दिन उनकी हालत बिगड़ गई जब ऑपरेशन के बाद उनके गुर्दे में गंभीर समस्या पैदा हो गई थी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You