अमेरिका का दावा, व्यापारिक राज चोरी करने के लिए नहीं किया खुफियागीरी का उपयोग

  • अमेरिका का दावा, व्यापारिक राज चोरी करने के लिए नहीं किया खुफियागीरी का उपयोग
You Are HereInternational
Thursday, January 16, 2014-1:39 PM

वाशिंगटन: दुनिया भर के कंप्यूटरों को टैप करने और उन पर निगरानी के आरोपों के बीच अमेरिका ने कहा है कि वह विदेशी कंपनियों के व्यापारिक राज चोरी करने के लिए अपनी खुफियागीरी क्षमताओं का उपयोग नहीं करता।

व्हाइट हाउस प्रेस सचिव जे कार्नी का कहना है कि नेशनल सिक्युरिटी एजेंसी (एनएसए) गहन निगरानी में काम करता है और उसका ध्यान आतंकवादियों, कबूतरबाजों और मादक द्रव्य के तस्करों जैसे वैध एवं विदेशी खुफियागीरी लक्ष्यों पर खुफियागीरी का विकास करने पर केन्द्रित है।

कार्नी ने कहा, ‘‘सामान्य अमेरिकियों के बारे में निजी सूचना में उनकी दिलचस्पी नहीं है और ना ही वे खुफियागीरी क्षमताओं का उपयोग विदेशी कंपनियों के व्यापारिक राज चोरी करने या जो हम खुफिया सूचना जमा करते हैं उन्हें अमेरिकी कंपनियों की अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा क्षमता बढ़ाने या बैलेंस शीट बढ़ाने में करते हैं।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You