मिस्र के लोगों ने नए संविधान के मसौदे का समर्थन किया

  • मिस्र के लोगों ने नए संविधान के मसौदे का समर्थन किया
You Are HereInternational
Friday, January 17, 2014-12:02 AM

काहिरा: मिस्र के लोगों ने नए धर्मनिरपेक्ष संविधान के मसौदे का समर्थन किया है। जनमत संग्रह के शुरूआती नतीजों से यह बात सामने निकलकर आई है। इससे सेना प्रमुख जनरल अब्दुल फतह अल सीसी के राष्ट्रपति की उम्मीदवारी का रास्ता साफ हो सकता है। नया मसौदा उस संविधान के स्थान पर लाया गया है जिसे पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मुरसी के कार्यकाल में पारित किया गया था। विरोध प्रदर्शनों के बाद मुरसी को जुलाई, 2013 में अपदस्थ कर दिया गया था।

मिस्र में करीब 5.3 करोड़ लोग मताधिकार का इस्तेमाल करने के योग्य हैं। राजधानी काहिरा में सबसे अधिक 40 फीसदी लोगों ने मतदान किया। मुरसी को अपदस्थ किए जाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने काहिरा, अल शारकिया, फायमूम और डेलगा में रैलियां भी निकाली हैं। पहले दिन के मतदान के दौरान भड़की हिंसा में नौ लोग मारे गए थे। सुरक्षा के लिए हजारों पुलिसकर्मियों और सैनिकों की तैनाती की गई थी। मुरसी को अपदस्थ किए जाने के बाद से जारी हिंसा में एक हजार से अधिक लोग मारे गए हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You