जासूसी संबंधी प्रतिबद्धताओं का पालन करें ओबामा: EU

  • जासूसी संबंधी प्रतिबद्धताओं का पालन करें ओबामा: EU
You Are HereInternational
Saturday, January 18, 2014-12:06 PM

ब्रसेल्स: यूरोपीय संघ ने फोन पर बातचीत संबंधी आंकड़ों के संग्रहण में सुधार करने के, राष्ट्रपति बराक ओबामा के वादे को एक सही कदम बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति से यह अपील भी की कि वे इस प्रतिबद्धता को कानूनी रूप दें। ओबामा ने कल अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी की फोन पर बातचीत की निगरानी संबंधी पहुंच सीमित कर दी, लेकिन यह तर्क दिया कि अमेरिका को आतंकवादियों से बचाने के लिए व्यापक स्तर पर आंकड़ों का संग्रहण करते रहना चाहिए।

निगरानी कार्यकमों के बारे में एडवर्ड स्नोडेन द्वारा किए गए खुलासे पर मचे कोहराम को शांत करने के लिए अपने संबोधन में ओबामा ने कहा कि मित्र देशों के नेताओं की खुफिया टैपिंग रोकी जाएगी, जबकि आंकड़ों के अमेरिकी संग्रहण के दायरे में आए विदेशियों को नई सुरक्षा दी जाएगी।

यूरोपीय संघ के न्यायाधीश आयुक्त (जस्टिस कमिश्नर) विवियाने रेडिंग ने कल कहा, ‘‘मैं यह देखकर उत्साहित हूं कि गैर-अमेरिकी नागरिकों को खुफिया सुरक्षा उपायों से लाभ मिलेगा। मैं राष्ट्रपति ओबामा से सहमत हूं। भविष्य में और ज्यादा काम करने की जरूरत होगी। मैं चाहूंगा कि इन वादों का विधाई कार्यवाही से पालन किया जाए।’’

अमेरिका द्वारा ब्रिटेन की जीसीएचक्यू सेवा के सहयोग से ऑनलाइन और फोन पर बातचीत संबंधी आंकड़ों की व्यापक स्तर पर निगरानी किए जाने के बारे में जब स्नोडेन ने खुलासा किया तो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोष फैल गया था। खास तौर पर जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल इस बात से बेहद नाराज हुईं कि एनएसए ने लंबे समय तक उनके मोबाइल फोन पर होने वाली बातचीत की निगरानी की है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You