‘आतंकी समूहों से निपटने के लिए सैनिकों की तैनाती पर भारत से बात करे अमेरिका’

  • ‘आतंकी समूहों से निपटने के लिए सैनिकों की तैनाती पर भारत से बात करे अमेरिका’
You Are HereInternational
Wednesday, January 22, 2014-5:53 PM

न्यूयॉर्क: अमेरिका के एक थिंक टैंक ने कहा है कि पाकिस्तान आधारित आतंकवादी समूहों की ओर से उत्पन्न खतरे से निपटने के लिए अमेरिका को भारत में अमेरिकी सेना तथा खुफिया तंत्र को स्थापित करने के लिए आम चुनाव के बाद वहां की सरकार से बात-चीत करनी चाहिए।

विदेश संबंध परिषद द्वारा तैयार एक विशेष रिपोर्ट ‘अमेरिका की नई पाकिस्तान नीति: अफपाक से एशिया तक’ में यह भी सिफारिश की गई है कि अमेरिका को क्षेत्रीय तनाव और हिंसा की संभावनाओं को कम करने के लिए चीन, भारत और पाकिस्तान से नई राजनयिक वार्ता शुरू करनी चाहिए।

रिपोर्ट के लेखक और भारत, पाकिस्तान तथा दक्षिण एशिया मामलों के सीएफआर के वरिष्ठ फेलो डेनियल मार्के ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को भारत के प्रधानमंत्री से संपर्क की शुरूआत करके, वरिष्ठ अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों को अपने भारतीय समक्षों के साथ आतंकवाद विरोधी सहयोग का विशेष विस्तार करने पर विचार विमर्श करना चाहिए और इसे अफगानिस्तान के बाद के हालात में पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों से उत्पन्न खतरे से निपटने के लिए भारत में अमेरिकी सेना या खुफिया तंत्र की स्थापना तक विस्तार दिया जाना चाहिए।’’

मार्के ने इस बात को स्वीकार किया है कि अमेरिका और भारत के बीच इस प्रकार की बातचीत ‘‘राजनीतिक रूप से संवेदनशील होगी’’ और इसलिए यह भारत की अगली निर्वाचित सरकार के आने के बाद ही होनी चाहिए।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You