मुंबई हमला: पाक अदालत ने 29 जनवरी तक टाली सुनवाई

  • मुंबई हमला: पाक अदालत ने 29 जनवरी तक टाली सुनवाई
You Are HereInternational
Thursday, January 23, 2014-1:02 PM

लाहौर: पाकिस्तान की आतंकवाद निरोधक एक अदालत ने मुंबई हमला मामले की सुनवाई 29 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दी। इस मामले में अदालत लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जकीउर रहमान लखवी सहित सात लोगों के खिलाफ सुनवाई कर रही है।
   
अदालत के सूत्रों ने बताया कि यहां से करीब 80 किमी दूर स्थित गुजरांवाला जिले में मुस्लिम कमर्शियल बैंक के एक बैंकर ने कल इस्लामाबाद की आतंकवाद निरोधक अदालत में गवाही दी कि एक आरोपी ने धन का लेन-देन किया था। बचाव पक्ष के वकील ने सवाल किया कि यह कैसे साबित किया जा सकता है कि कथित आरोपी ने जिस धन का लेन-देन किया था। उसका उपयोग आतंकवादी गतिविधियों के लिए किया गया। अदालत ने मामले की सुनवाई 29 जनवरी तक स्थगित की तथा कुछ और निजी गवाहों को सम्मन जारी किया।

गौरतलब है कि मुंबई हमला मामले के सिलसिले में सात आरोपियों के खिलाफ सुनवाई चल रही है। लश्कर-ए-तैयबा के ऑपरेशन कमांडर लखवी, अब्दुल वाजिद, मजहर इकबाल, सादिक, शाहिद जमील रियाज, जमील अहमद और यूनुस अंजुम को 2009 में गिरफ्तार किया गया था। इन लोगों पर मुंबई हमले में कथित भूमिका निभाने का आरोप है। वर्ष 2008 में हुए मुंबई हमले में 166 लोग मारे गए थे और 300 से अधिक घायल हो गए थे। मामले की सुनवाई बेहद धीमी गति से चल रही है। यह बात दोनों देशों के बीच शांति वार्ता की पूरी तरह बहाली में विवाद का कारण बनी हुई है।

पाकिस्तान जानता है कि हमले की साजिश उसके यहां ही रची गई थी। हमले में जीवित बचे, लश्कर-ए-तैयबा के एकमात्र हमलावर को भारत में फांसी दे दी गई। नई दिल्ली की मांग है कि इस्लामाबाद को सातों संदिग्धों के खिलाफ शीघ्र सुनवाई करनी चाहिए, ताकि यह पता चले कि वह आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए गंभीर है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You