सीरिया के युद्धरत पक्षों को साथ लाने का प्रयास करेगा संयुक्त राष्ट्र

  • सीरिया के युद्धरत पक्षों को साथ लाने का प्रयास करेगा संयुक्त राष्ट्र
You Are HereInternational
Thursday, January 23, 2014-6:56 PM

मोन्ट्रेक्स (स्विट्जरलैंड): सीरिया शांति सम्मेलन के पहले दिन की वार्ता में हुए मतभेद के बाद संयुक्त राष्ट्र के मध्यस्थ लखदर ब्राहिमी ने युद्धरत दोनों पक्षों से आज बंद कमरे में मुलाकात कर जानने का प्रयास किया कि क्या दोनों पक्ष बातचीत के लिए तैयार हैं। ब्राहिमी कल जिनिवा में विस्तृत वार्ता शुरू होने से पहले राष्ट्रपति बशर-अल-असद और विपक्ष के प्रतिनिधिमंडलों से अलग-अलग मुलाकात करेंगे।

संयुक्त राष्ट्र की ओर से प्रायोजित, सीरिया के गृहयुद्ध को समाप्त करने की सबसे बड़ी राजनयिक कोशिश कल से स्विटजरलैंड के मोन्ट्रेक्स में चल रही है। वार्ता के पहले दिन कल दोनों पक्षों और वैश्विक शक्तिओं के बीच वैचारिक मतभेदों को लेकर काफी गर्म बहस हुई। लेकिन दोनों पक्षों में से किसी ने भी वार्ता का बहिष्कार नहीं किया और ब्राहिमी का कहना है कि वह आज दोनों पक्षों से बातचीत कर देखेंगे कि इस मुद्दों को किस तरह आगे बढ़ाया जाए।

ब्राहिमी ने कहा, ‘‘क्या हम एक कमरे में जा कर अचानक बातचीत शुरू कर देंगे या फिर अलग-अलग बातचीत करेंगे ? मुझे अभी तक नहीं पता।’’ अधिकारियों का कहना है कि यह वार्ता सात से 10 दिन तक चल सकती है और बीच में अवकाश के बाद इसके दोबारा शुरू होने की भी संभावना है। हालांकि सम्मेलन में कोई स्पष्ट नतीजा निकलने की संभावना बहुत कम है लेकिन राजनयिकों का मानना है कि पहली बार दोनों पक्षों को एक साथ लाना प्रगति का सूचक है और यह पहला सबसे महत्वपूर्ण कदम भी साबित हो सकता है।

चूंकि कोई भी गंभीर सहमति के लिए तैयार नहीं है इसलिए मध्यस्थों का प्रयास है कि थोड़े समय के लिए कोई समझौता हो जाए ताकि इस दिशा में आगे बढऩे की प्रकिया जारी रहे। लघुवधिक समझौतों में स्थानीय संघर्ष विराम, मूलभूत सुविधाओं तक लोगों की मुक्त पहुंच और कैदियों की अदलाबदली शामिल है। ब्राहिमी का कहना है कि उन्हें दोनों पक्षों से ‘‘संकेत’’ मिले हैं कि वे इन मुद्दों पर बातचीत करने को तैयार हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You