अदालत के फैसले से चुनाव टालने का रास्ता खुला

  • अदालत के फैसले से चुनाव टालने का रास्ता खुला
You Are HereInternational
Friday, January 24, 2014-7:09 PM

बैंकाक: थाईलैंड की संवैधानिक अदालत ने आज यह फैसला कर कहा कि सरकार द्वारा संसदीय चुनाव के लिए निर्धारित दो फरवरी की तिथि का टालना गैर कानूनी नहीं होगा। देश के भीतर जारी राजनीतिक गतिरोध को और अधिक बढ़ाने का रास्ता खोल दिया है। चुनाव आयोग ने संवैधानिक अदालत से चुनाव टालने की अनुमति मांगी थी और कहा था कि राजनीतिक गतिरोध को देखते हुए इस समय चुनाव कराना असंभव होगा।

अदालत ने आज चुनाव आयोग को चुनाव टालने की अनुमति तो दे दी किन्तु साथ ही उसने यह साफ कर दिया कि सरकार की सहमति से ही चुनाव आगे बढ़ाया जा सकता है। सरकार चुनाव नहीं टालने की बात पहले ही कह चुकी है और अगर वह इस पर कायम रहती है तो निर्वाचन आयोग को 2 फरवरी को चुनाव कराना पडेगा और ऐसी स्थिति में विपक्ष इसका बहिष्कार कर सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You