'हिज्बुल्लाह को आतंकवादी संगठन कहा जाना स्वीकार नहीं'

  • 'हिज्बुल्लाह को आतंकवादी संगठन कहा जाना स्वीकार नहीं'
You Are HereInternational
Saturday, January 25, 2014-12:25 PM

बेरूत: लेबनान के कार्यवाहक विदेश मंत्री अदनान मंसूर ने जिनेवा में सीरिया संकट के मुद्दे पर विभिन्न पक्षों के हिज्बुल्लाह को आतंकवादी संगठन करार दिए जाने को खारिज किया है।

सीरिया मुद्दे के समाधान के लिए मोट्रेक्स में बैठक में शिरकत करने के बाद यहां लौटने पर मंसूर ने कहा, "जिनेवा में दूसरी शांति वार्ता में कुछ पक्षों ने हिज्जबुल्लाह को आतंकवादी संगठन करार दिया, जो अस्वीकार्य है। इस संगठन ने इजरायली सेना के खिलाफ संघर्ष करते हुए अपनी सरजमीं की रक्षा की है तथा देश तथा जनता का गौरव बरकरार रखा है। ऐसे संगठन को आतंकवादी का दर्जा नहीं दिया जा सकता है।"

उन्होंने यह भी कहा कि सीरिया में अंतरिम सरकार बनने से भी वहां लंबे समय से जारी संकट का समाधान नहीं होगा, क्योंकि संबंद्ध पक्षों में से एक ने कई ऐसी शर्ते रखी है, जिनका कोई आधार नहीं है और इस तरह का अडियल रवैया संकट के हल में योगदान नहीं दे सकता है। उन्होंने जिनेवा में अपने भाषण में कहा था कि सीरिया में किसी भी तरह के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है और ऐसा करने से संकट और बढ़ेगा।  उनका कहना था कि अगर विदेशी प्रतिनिधि किसी संघर्षरत संगठन को आतंकवादी करार देंगे तो यह कतई स्वीकार नहीं होगा, भले ही इसके पीछे कोई कारण रहा हो।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You