उल्फा नेता और पूर्व मंत्रियों को मौत की सजा

  • उल्फा नेता और पूर्व मंत्रियों को मौत की सजा
You Are HereInternational News
Thursday, January 30, 2014-2:21 PM
ढाका: बांग्लादेश की एक अदालत ने देश के इतिहास में हथियारों की सबसे बड़ी बरामदगी के दस साल से अधिक पुराने मामले में आज जमात ए इस्लामी के प्रमुख और भारत के अलगाववादी संगठन उल्फा के शीर्ष नेता समेत 14 लोगों को मौत की सजा सुनाई। न्यायाधीश एस एम मुजीबुर रहमान द्वारा कड़ी सुरक्षा के बीच खचाखच भरी अदालत में फैसला सुनाया गया। जिसके बाद 'निजी समय' टीवी चैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘‘ मेट्रोपोलिटन विशेष पंचाट ने 14 को सुनाई मौत की सजा।’’

उल्फा की सैन्य शाखा के प्रमुख परेश बरूआ को हथियारों से भरे दस ट्रकों की बरामदगी के मामले में उसकी गैर हाजिरी में मौत की सजा दी गई। जमात ए इस्लामी प्रमुख और पूर्व मंत्री मतिउर रहमान निजामी तथा तत्कालीन बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी  (बीएनपी) की अगुवाई वाली दक्षिणपंथी सरकार में उप गृह मंत्री लुत्फुज्जमान बाबर को भी मौत की सजा दी गई। केवल दो दोषियों, बरूआ और पूर्व अतिरिक्त सचिव नुरूल अमीन पर उनकी गैर हाजिरी में मुकदमा चलाया गया है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You