‘सिर पर बंदूक तानने से शांति वार्ता नहीं होती’

  • ‘सिर पर बंदूक तानने से शांति वार्ता नहीं होती’
You Are HereInternational
Monday, February 03, 2014-3:23 PM

यरूशलम: फिलीस्तीन से शांति समझौता न करने की स्थिति में इजरायल पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की अमेरिकी धमकी की इजरायल ने कडे शब्दों में निंदा की है और कहा है कि सिर पर बंदूक तानने से शांति वार्ता नहीं होती है। जान केरी ने जर्मनी के म्यूनिख में कल हुई बैठक के दौरान कहा था कि अमेरिकी विदेश मंत्री अगर फिलीस्तीन के साथ शांति वार्ता सफल नहीं होती है तो इससे इजरायल के खिलाफ अभियान में तेजी आ जाएगी।

केरी ने कहा कि लोग इजरायल और फिलीस्तीन के मुद्दे पर काफी संवदेनशील हैं और वे इजरायल का आर्थिक रूप से बहिष्कार करने और अन्य प्रतिबंध लागू करने की बात कर रहे हैं। पश्चिमी तट पर यहूदी बस्तियों को अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अवैध माना जाता है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने कल भी केरी के बयान पर कडी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुओए कहा है कि इजरायल का बहिष्कार करने से लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हो सकती है। बहिष्कार की बात पूरी तरह अन्यायपूर्ण और अनैतिक है।

नेतान्याहू के मंत्रिमंडल ने केरी पर यहूदी विरोधी होने का आरोप लगाया है। मंत्रिमंडल का कहना है कि केरी इजरायल पर प्रतिबंध लगाने की कवायद करके यहूदी विरोधी अभियान को बढावा दे रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You