यह शख्स ब्लॉग के जरिए बांट रहा है अपनी खुशी और गम

  • यह शख्स ब्लॉग के जरिए बांट रहा है अपनी खुशी और गम
You Are HereInternational
Tuesday, February 04, 2014-11:18 AM

ओटावा: एक कनाडाई नागरिक जिसकी दिमागी रूप से मृत पत्नी को गर्भ में पल रहे बच्चे के जन्म तक जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया है, वह इन दिनों अपने ब्लॉग पर अपनी जिंदगी के इस नाजुक मोड़ की दुश्वारियों को सांझा करने में जुटा है। एक ऑनलाइन ब्लॉग में डेलिन बेनसोन अपनी हर पल की लड़ाई को अपने दोस्तों के साथ बांट रहा है। उसकी पत्नी रोबिन को डॉक्टरों ने दिमागी रूप से मृत घोषित कर दिया है, जिसके गर्भ में उसका बेटा पल रहा है।

रोबिन को दिसंबर के अंत में ब्रेन हैमरेज का सामना करना पड़ा था। उस समय वह 22 हफ्ते की गर्भवती थी। डॉक्टर उसके गर्भ की 34 सप्ताह की अवधि पूरी होने तक उसे जिंदा रखने की उम्मीद में हैं। मार्च के अंत में 34 सप्ताह पूरे हो जाएंगे और उस समय डॉक्टरों ने ऑपरेशन के जरिए प्रसव कराने का फैसला किया है। प्रसव के तुरंत बाद रोबिन के जीवन रक्षक उपकरणों को हटा लिए जाने की संभावना है।

32 वर्षीय बेनसोन ने अपने ब्लॉग मिस्टरबेनसोनडॉटकॉम पर लिखा है, ‘‘ एक तरफ, मैं अपने बच्चे को देखने के लिए बेसब्र हो रहा हूं, उसे बहुत अच्छी जिंदगी देने की योजना बना रहा हूं और उसके लिए अच्छा पिता बनने की योजना बना रहा हूं, लेकिन दूसरी तरफ, मुझे पता है कि उसके जन्म के दिन या उसके एक दिन बाद मुझे रोबिन को अलविदा कहना होगा। मुझे उसकी बहुत याद आती है।’’

विक्टोरिया जनरल हॉस्पिटल में एक प्रवक्ता ने रोबिन बेनसोन नामक मरीज के भर्ती होने की पुष्टि की है, लेकिन निजता कानूनों के चलते उसके बारे में अधिक जानकारी नहीं दी।  उन्होंने कहा, ‘‘जल्द ही मां बनने जा रही एक महिला जीवन रक्षक उपकरणों पर है और दिमागी रूप से मृत घोषित की जा चुकी है, यह देखना बहुत त्रासदपूर्ण है।’’  पिछले महीने, अमेरिका के टेक्सास में भी एक इसी प्रकार का मामला सामने आया था। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You