धूम्रपान बनाता है निकम्मा, खत्म करता है उत्साह

  • धूम्रपान बनाता है निकम्मा, खत्म करता है उत्साह
You Are HereInternational
Thursday, February 06, 2014-1:16 PM

लंदन: अक्सर लोग खुद को ज्यादा सक्रिय या बुद्धिजीवी दिखाने के लिए या फैशन में धूम्रपान के आदी बन जाते हैं, लेकिन वास्तव में इसकी लत व्यक्ति को आलसी और नीरस बना देती है।

डेली मेल में आज प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ब्राजील के लॉनड्रिना विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक शोध में यह खुलासा किया है कि सिगरेट और बीड़ी पीने वालों को सक्रिय नहीं, बल्कि आलसी माना जाता है। शोध के लिए 60 धूम्रपान की लत वाले लोगों और 50 धूम्रपान नहीं करने वाले लोगों को छह दिन तक कम से कम हर दिन 12 घंटे पेडोमीटर पहनाया गया।

शोध रिपोर्ट में पाया गया है कि धूम्रपान के आदी लोग, धूम्रपान नहीं करने लोगों के मुकाबले कम चलते हैं और उनके फेफड़े भी कम काम करते हैं, जिसकी वजह से वे उतनी कसरत नहीं कर पाते। ऐसे लोग शारीरिक रूप से कम सक्रिय होते हैं और जीवन के प्रति उनमें उत्साह की कमी होती है।

शोध में पाया गया है कि धूम्रपान के आदी लोग कम टहलते हैं और ये अपनी जीवनशैली में कोई परिवर्तन भी नहीं करना चाहते हैं। ऐसे लोगों में बेचैनी, अवसाद का लक्षण आम होता है। शोध में शामिल धूम्रपान की लत वाले लोगों ने बताया कि वे ज्यादा थकान महसूस करते हैं और उनमें उत्साह की कमी है।

इससे पहले के शोध में पाया गया था कि धूम्रपान करने वाले लोगों को कम नींद आती है और उनकी नींद धूम्रपान न करने वालों की तुलना में कम आरामदेह होती है। वे सोकर उठने पर वैसे ताजगी नहीं महसूस करते हैं, जैसे धूम्रपान न करने वाले करते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You