वीजा घोटाले के आरोप में भारतीय मूल का दंपति गिरफ्तार

  • वीजा घोटाले के आरोप में भारतीय मूल का दंपति गिरफ्तार
You Are HereInternational
Thursday, February 13, 2014-6:33 PM

मेलबन: ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल के एक आव्रजन एजेंट और उसकी पत्नी को वीजा घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मामला ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश के लिए वहां की महिलाओं के साथ फर्जी शादी कराने के लिए ग्राहकों से पैसे लेने से जुड़ा है। मामले में दोनों को 10 साल तक की कैद हो सकती है। स्थानीय मीडिया की खबरों के अनुसार एजेंट चेतन मोहनलाल माशरू और उसकी पत्नी दिव्या कृष्ण गौड़ा पर कथित तौर पर एक वीजा गिरोह चलाने का आरोप है।

दो दिन पहले ऑस्टे्रलिया की संघीय पुलिस ने मुंबई के रहने वाले माशरू और उसकी ऑस्ट्रेलियाई पत्नी को दक्षिणपश्चिम ब्रिसबेन के ओक्सले से गिरफ्तार किया। दोनों आरोपियों को दोषी पाए जाने पर 10 साल तक की कैद हो सकती है और दोनों पर 1,70,000 -1,70,000 डॉलर का जुर्माना लग सकता है। दोनों कल ब्रिसबेन की मजिस्ट्रेट अदालत में सुनवाई के लिए पेश हुए।

अदालत को बताया गया कि दंपति ने कथित तौर पर जिन 30 से अधिक पुरूष और महिलाओं की शादी कराई वो अभियोजन पक्ष के गवाहों में शामिल हैं। राष्ट्रमंडल अभियोजक एमी ऐसथोर्प ने दोनों की जमानत याचिकाओं का विरोध करते हुए कहा कि आरोपियों ने मार्च 2011 से मार्च 2012 के बीच एक ‘संगठित रूप से जारी अभियान’ चलाया और हर शादी के लिए 10,000 से 20,000 डॉलर लिए।

मजिस्ट्रेट जॉन मैकग्राथ ने बाद में कई शर्तों के आधार पर दोनों को जमानत दे दी। दिव्या से उसका पासपोर्ट जमा करने के लिए कहा गया है जबकि पुलिस पहले ही माशरू का पासपोर्ट जब्त कर चुकी है। इस मामले की अगली सुनवाई 14 मार्च को ब्रिसबेन के कॉमनवेल्थ कॉलओवर कोर्ट में की जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You