'शांति वार्ता और आतंकवादी हमले साथ-साथ नहीं चल सकते'

  • 'शांति वार्ता और आतंकवादी हमले साथ-साथ नहीं चल सकते'
You Are HereInternational
Friday, February 14, 2014-3:39 PM

कराची: पाकिस्तान के गृहमंत्री चौधरी निसार अली खान ने कहा है कि पाकिस्तानी तालिबान आतंकवादियों के साथ शांति वार्ता देश में लगातार हो रहे आतंकवादी हमलों के साथ-साथ नहीं चल सकती है।

खान ने कल कराची हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा, "पाकिस्तान में शांति की बहाली एक राष्ट्रीय मुद्दा है। एक तरफ तो हम तालिबान के साथ शांति वार्ता कर रहे है और दूसरी तरफ देश में लगातार हमले जारी हैं। एक बात स्पष्ट है कि शांति वार्ता आतंकवादी हमलों के साथ-साथ नहीं चल सकती है।"

उल्लेखनीय है कि इस समय सरकार और पाकिस्तानी तालिबान के बीच शांति वार्ता चल रही है। दोनों पक्षों का मानना है कि वार्ता के दौरान बड़े हमलों से बचा जाए, लेकिन इसके बावजूद हमलो का सिलसिला जारी है। पाकिस्तान की आॢथक राजधानी कराची में एक पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र के निकट कल एक पुलिस बस को निशाना बनाकर किए गए विस्फोट में 13 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। बुधवार को भी एक पुलिसकर्मी के मकान पर हुए हमले में नौ लोग मारे गए थे। इसके अलावा गत मंगलवार को एक सिनेमाघर पर हुए ग्रेनेड हमले में 13 लोगों की मौत हो गई थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You