दुनिया का पहला ऐसा देश जहां बच्चों को मिला इच्छामृत्यु का अधिकार!

  • दुनिया का पहला ऐसा देश जहां बच्चों को मिला इच्छामृत्यु का अधिकार!
You Are HereInternational
Friday, February 14, 2014-4:14 PM

ब्रुसेल्स:  बेल्जियम की संसद ने लाइलाज बीमारी के शिकार बच्चों को इच्छामृत्यु देने के अधिकार संबंधी विधेयक को पारित कर दिया है।
देश के सम्राट द्वारा विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिए जाने के बाद बेल्जियम दुनिया का पहला ऐसा देश बन जाएगा जहां किसी भी उम्र के बच्चे पर यह कानून लागू होगा।

संसद में 86 सदस्यों ने इस विधेयक के पक्ष में मतदान किया जबकि 44 ने इसके खिलाफ मतदान किया जबकि 12 सदस्यों ने मतदान में
हिस्सा नहीं लिया। इस कानून में बच्चों की आयु सीमा तय नहीं की गई है। लाइलाज बीमारी के कारण असहनीय दर्द से जूझ रहे बच्चों के आग्रह पर ऐसा किया जा सकता है और इसमें अभिभावकों की सहमति भी जरूरी होगी।

उल्लेखनीय है कि 12 साल पहले बेल्जियम ने लाइलाज बीमारी के शिकार व्यस्कों के लिए इच्छामृत्यु का कानून बनाया था। बेल्जियम ने
उत्तरी पड़ोसी देश नीदरलैंड में 12 से अधिक उम्र के बच्चो के लिए इच्छामृत्यु का कानून है बशर्ते उसमें अभिभावकों की सहमति हो।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You