न्यूजीलैंड में चुनावी कागजात से फर्जीवाड़ा के आरोप में सिख नेता को सजा

  • न्यूजीलैंड में चुनावी कागजात से फर्जीवाड़ा के आरोप में सिख नेता को सजा
You Are HereInternational
Thursday, February 20, 2014-12:37 PM

मेलबर्न: न्यूजीलैंड की एक अदालत ने तीन साल पहले एक स्थानीय निकाय चुनाव में जीत हासिल करने के लिए फर्जी कागजात का सहारा लेने के लिए एक सिख नेता को सामुदायिक सेवा करने की सजा दी। ऑकलैंड के हाईकोर्ट ने लेबर पार्टी सदस्य और 'जस्टिस ऑफ द पीस' तथा सिख नेता दलजीत सिंह (43) को फर्जी कागजात के लिए दो मामलों में कसूरवार माना।
    
मीडिया की खबरों के मुताबिक, सिंह ने यह दिखाने के लिए पते में परिवर्तन किया था कि तिमारू और तौरांगा जैसे जगहों पर रहने वाले लोग ओटारा क्षेत्र में रहते हैं। 2010 में आकलैंड में ‘सुपर सिटी’ चुनाव में हार का सामना करने वाले सिंह इससे संबंधित 18 अन्य मामलों में दोषी नहीं पाए गए।
 
न्यायमूर्ति मार्क वूलफोर्ड ने कहा कि न्यूजीलैंड में चुनावी फर्जीवाड़ा दोषसिद्धि का पहला मामला है। वूलफोर्ड ने सिंह को कहा कि उसे जेल में 12 महीने गुजारना पड़ सकता था। लेकिन, गवाहों की समीक्षा के बाद उन्होंने पांच महीने के ‘सामुदायिक हिरासत’ और 200 घंटे के सामुदायिक काम का आदेश दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You