श्रीलंका में भारतीय सैनिकों की भूमिका को लेकर आयोग के पास उठा सवाल

  • श्रीलंका में भारतीय सैनिकों की भूमिका को लेकर आयोग के पास उठा सवाल
You Are HereInternational
Friday, February 21, 2014-11:51 PM

कोलंबो : श्रीलंका में 25 साल पहले भारतीय शांति रक्षक बल (आईपीकेएफ) की भूमिका को लेकर की गई शिकायत उस सरकारी आयोग के पास है जिसका गठन गृहयुद्ध के समय लापता हुए लोगों को जांच के लिए हुआ है। आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस सप्ताह की शुरूआत में आईपीकेएफ के खिलाफ उस वक्त शिकायत मिली जब आयोग उत्तरी श्रीलंका में सुनवाई कर रहा था।

 अधिकारी ने कहा, ‘‘इतना जरूर है कि यह शिकायत आयोग के दायरे से बाहर के समय से संबंधित है।’’ उन्होंने कहा कि अगर आईपीकेएफ को लेकर और शिकायतें मिलती हैं तो आयोग अपनी जांच का दायरा बढ़ाते हुए 1987 के दौर की घटनाओं को भी शामिल कर सकता है। श्रीलंकाई तत्कालीन राष्ट्रपति जे आर जयवर्धने के निमंत्रण पर साल 1987 में आईपीकेएफ को यहां बुलाया गया था। यह भारत-श्रीलंका शांति करार का हिस्सा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You