‘भारत-पाक व्यापार वार्ता से पहले पाकिस्तानी किसानों पर करें विचार’

  • ‘भारत-पाक व्यापार वार्ता से पहले पाकिस्तानी किसानों पर करें विचार’
You Are HereInternational
Sunday, February 23, 2014-4:25 AM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान और भारत के औद्योगिक निकाय दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध सामान्य बनाने पर सहमत हो गए हैं, लेकिन पाकिस्तान के एक अखबार ने शनिवार को कहा है कि किसी भी समझौते पर हस्ताक्षर से पहले नीतिनिर्माताओं के लिए देश के कृषि क्षेत्र पर पडऩे वाले रणनीतिक और आर्थिक प्रभाव का आकलन करना अनिवार्य है।

द नेशन ने अपने संपादकीय में कहा है, ‘‘फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री (एफपीससीआई) दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंध सामान्य होने की जरूरत पर सहमत है क्योंकि इससे कच्चा माल तैयार करने, सस्ते परिवहन और उत्पादन खर्च घटाने में मदद मिलेगी।’’

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘लेकिन दोनों देशों के बीच मुक्त व्यापार शुरू करने के लिए किसी भी समझौते पर दस्तखत से पहले पाकिस्तान के नीतिनिर्माताओं को गहरे द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध का पाकिस्तान के कृषि क्षेत्र पर पडऩे वाले रणनीतिक एवं आर्थिक प्रभावों का आकलन करना होगा।’’

अखबार ने कहा है, ‘‘भारत और पाकिस्तान में  उदीयमान व्यापारिक अवसरों में भागीदारी और गैर-शुक्ल बाधाओं को दूर करने के जरिए दोनों देश अपना आर्थिक सहयोग सुधार सकते हैं जिससे दोनों देशों की जनता के लिए समग्र विकास में मदद मिलेगी।’’

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘लेकिन यह अवसर पाकिस्तानी किसानों के खिलाफ जाएगा, क्योंकि वे आज भी अपनी सरकार की उपेक्षा के शिकार हैं।’’ अखबार ने कहा है कि भारतीय कृषि शुल्क, गैर शुल्क, गैर-शुल्क और तकनीकी बंधनों के जरिए अत्यंत संरक्षित हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You