जासूसी मामले में मुर्सी के खिलाफ 27 तक सुनवाई स्थगित

  • जासूसी मामले में मुर्सी के खिलाफ 27 तक सुनवाई स्थगित
You Are HereInternational
Sunday, February 23, 2014-10:05 PM

काहिरा: मिस्र की एक अदालत ने रविवार को पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी एवं अन्य 35 लोगों के खिलाफ जासूसी मामले की सुनवाई 27 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दी। सरकारी समाचार एजेंसी मीना के हवाले से समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने कहा है कि बचाव पक्ष में शामिल अन्य लोगों में मुस्लिम ब्रदरहुड के सर्वोच्च नेता मोहम्मद बादेई और संगठन के दो उपनेता खैरात अल-शातेर और मोहम्मद इज्जत, संसद के पूर्व स्पीकर साद अल-कटाटनी एवं अन्य शामिल हैं। सभी ने बचाव करने के लिए दिए गए वकील की सेवा लेने से इनकार कर दिया।

बचाव पक्ष में शामिल लोगों पर मिस्र में आतंकवादी हमले अंजाम देने के लिए फलस्तीन के हमास मूवमेंट सहित अन्य विदेशी संगठनों के लिए जासूसी करने का आरोप है। शीशे के पिंजड़े से बचाव पक्ष के लोगों ने कहा कि उन्हें अपना बचाव करने वाले दल का चुनाव करने का अधिकार हासिल है। 16 फरवरी को पीठासीन न्यायाधीश शबान अल-शमी ने बचाव के लिए 10 वकील अनिवार्य किए जाने के लिए कहा था, क्योंकि उनके पूर्व के वकील ने सुनवाई के दौरान मुर्सी और उनके संगठन ब्रदरहुड के सदस्यों को शीशे के पिंजड़े में बंद किए जाने का विरोध किया था और प्रक्रिया को गैरकानूनी करार दिया था।

सरकारी वकील ने कहा था कि मुर्सी और मुस्लिम ब्रदरहुड के 35 नेता विदेशी संगठनों और दूसरे देशों के साथ सांठगांठ कर मिस्र के हितों को नुकसान पहुंचाने के दोषी हैं। इसके अलावा मुर्सी दो और आरोपों, राष्ट्रपति रहते प्रदर्शनकारियों की हत्या कराने और 2011 के विद्रोह के दौरान जेल तोडऩे और पुलिस पर हमला करने का सामना कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You