‘मोदी के चीन को कोसने से रिश्तों पर असर नहीं होगा’

  • ‘मोदी के चीन को कोसने से रिश्तों पर असर नहीं होगा’
You Are HereNational
Wednesday, February 26, 2014-6:04 PM

बीजिंग: चीन के एक प्रमुख सरकारी अखबार का कहना है कि चुनाव से पहले भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के चीन को कोसने का चीन-भारत संबंधों पर विपरीत असर नहीं होगा तथा उनकी टिप्प्णी को अधिक महत्व देने की कोई जरूरत नहीं है।

समाचार पत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने एक लेख में कहा है कि नेताओं की सख्त टिप्पणियों से द्विपक्षीय रिश्तों को नुकसान नहीं होगा। यह लेख ‘मोदी की चीन आलोचना से से भारत चीन संबंध में नहीं आएगी दरार’’ शीर्षक से प्रकाशित हुआ है।

बीते 22 फरवरी को मोदी की ओर से अरूणाचल प्रदेश में की गई टिप्पणी के बाद पहली बार चीन की मीडिया में इसको को लेकर कोई बयान आया है। चीन अरूणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत बताता है तो भारत ने हमेशा से दो टूक शब्दों में कहा है कि यह उसका अभिन्न हिस्सा है।

मोदी ने अरूणाचल प्रदेश के पासीघाट में अपनी रैली में कहा था, ‘‘चीन को अपना विस्तारवादी सोच को खत्म कर भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को दोनों देशों के शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए आगे बढ़ाना चाहिए।’’  चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने उस वक्त मोदी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया से इंकार किया था।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You