दक्षिण अफ्रीका में इस साल मारे गए 146 गैंडे

  • दक्षिण अफ्रीका में इस साल मारे गए 146 गैंडे
You Are HereInternational
Friday, February 28, 2014-2:38 AM

जोहांसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका में इस साल अब तक कुल 146 गैंडे मारे जा चुके हैं। इनमें से 95 गैंडे मोजांबिक की सीमा से लगे क्रूगर नेशनल पार्क  में मारे गए हैं। यह जानकारी बुधवार को साउथ अफ्रीकन नेशनल पाक्र्स (एसएएनपी)ने दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एसएएनपी प्रवक्ता एलबी मोडीज ने बताया, ‘‘कू्रगर नेशनल पार्क में गैंडो का जबरदस्त अवैध शिकार हुआ है। एक जनवरी से 95 गैंडे खो चुके हैं।’’

उन्होंने गैंडो का शिकार मुख्य रूप से मोजांबिक की ओर पार्क की खुली सीमा के कारण हुआ है। शिकारियों ने उस तरफ के सभी गैंडों को मार डाला है। उत्तर पश्चिती प्रांत में 14 गैंडों का, लिंपोपो में 14, क्वाजुलू-नताल में 10 और मपुमलंगा में छह गैंडों का अवैध शिकार हुआ है। ये आंकड़े 2013 के बाद आए हैं। साल 2013 में 1,004 गैंडों और  2012 में 668 गैंडों का अवैध शिकार हुआ था। 2014 के पहले दो महीनों के दौरान हर दिन दो गैंडे मारे गए। जनवरी से अब तक 44 शिकारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

दुनियाभर में गैंडों की कुल आबादी की 80 प्रतिशत आबादी दक्षिण अफ्रीका में है। देश के काले बाजार में गैंडे के एक सींग की कीमत 60,000 डॉलर से ज्यादा हो सकती है। मान्यता है कि कैंसर में इसका उपचारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसे समृद्धि का प्रतीक भी माना जाता है। बढ़ते अवैध शिकार से अगले दशक में ही प्रजाति के नष्ट होने की आशंका बढ़ गई है। हालांकि गैंडों की आबादी बढ़ रही है, लेकिन जल्द ही मौतें, जन्मदर से अधिक हो जाएंगी। दक्षिण अफ्रीका ने कू्रगरपार्क में अभियान शुरू कर दिया है। ड्रोन और सैनिक हर दिन शिकारियों से लड़ रहे हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You