यूनेस्को ने की भारतीय राजनयिक के पृथ्वी गान की प्रशंसा

  • यूनेस्को ने की भारतीय राजनयिक के पृथ्वी गान की प्रशंसा
You Are HereInternational
Friday, February 28, 2014-6:39 PM

काठमांडो: यूनेस्को ने एक भारतीय राजनयिक के पृथ्वी गान (अर्थ एंथम) के विचार की प्रशंसा की है लेकिन संसाधनों के अभाव का हवाला देेते हुए फिलहाल वह प्रस्ताव पर विचार करने को तैयार नहीं दिख रहा है। एक आधिकारिक अर्थ एंथम के लिए अभय कुमार के प्रस्ताव को वैश्विक ऑनलाइन प्रतियोगिता के दौरान सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों में से चुना गया था। उसे भारत के स्थानीय प्रतिनिधिमंडल ने जनवरी में विचार के लिए यूनेस्को के पास भेजा था।

काठमांडो स्थित भारतीय दूतावास में प्रथम सचिव (प्रेस) के पद पर तैनात कुमार ने कहा कि यूनेस्को ने माना कि अर्थ एंथम दुनिया को एक साथ लाने में योगदान देगा। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, ऐसा नहीं लगता कि वह बजट बाध्यताओं और अच्छी तरह तैयार योजना के अभाव में चुनौती पर विचार करने को वह तैयार है।’’

यूनेस्को के सहायक महानिदेशक एरिक फॉल्ट ने कहा, ‘‘सीमित वित्तीय और मानव संसाधनों के साथ संगठन की मौजूदा स्थिति के मद्देनजर हम धरती के लिए आधिकारिक एंथम का चयन करने के लिए भारतीय राजनयिक के प्रस्ताव के अनुसार ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित करने की स्थिति में नहीं हैं।’’ गीत में हिंदुस्तानी, अंग्रेजी, नेपाली, बंगाली, उर्दू, सिंहल, जोंगखा और धीवेही भाषा की पंक्तियों का इस्तेमाल किया गया है जो दक्षेस के आठ सदस्य देशों में बोली जाती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You