Subscribe Now!

गुजरात दंगों पर नीति में कोई बदलाव नहीं: अमेरिका

  • गुजरात दंगों पर नीति में कोई बदलाव नहीं: अमेरिका
You Are HereAmerica
Saturday, March 01, 2014-8:24 PM

वाशिंगटन: भारत स्थित अमेरिकी राजदूत नैन्सी पॉवेल की बहुप्रचारित मुलाकात और मानवाधिकार पर अमेरिकी रिपोर्ट से गुजरात के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद प्रत्याशी नरेंद्र मोदी का नाम हटा दिए जाने के बावजूद एक अमेरिकी अधिकारी ने इस बात पर जोर दिया है कि गुजरात में हुए 2002 के दंगों के प्रति अमेरिकी रुख में कोई बदलाव नहीं आया है।

विदेश विभाग की प्रवक्ता जेन पसाकी ने शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘नीति में कोई बदलाव नहीं आया है और न ही यह संपादन में हुई चूक है।’’ संवाददाताओं ने पसाकी से गुजरात के मुख्यमंत्री का नाम कांग्रेस को सौंपी गई विदेश विभाग की रिपोर्ट में शामिल नहीं किए जाने के बारे में सवाल किया था। उन्होंने कहा, ‘‘मानवाधिकार रिपोर्ट 2013 सिर्फ जनवरी से दिसंबर 2013 के बीच घटी घटनाओं पर केंद्रित है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आम तौर पर हम पूर्व में घटित घटनाओं से संबंधित समीक्ष्य अवधि के दौरान घटी महत्वपूर्ण घटनाओं पर ताजा जानकारी मुहैया कराते हैं।’’

पसाकी ने कहा, ‘‘इसलिए 2002 के सामुदायिक दंगों की दिशा में हमारी स्थिति साफ है और यह हमारी मानवाधिकार रिपोर्ट में अत्यंत हालिया रिपोर्ट के साथ शामिल है।’’ रिपोर्ट में ‘सामुदायिक हिंसा की कई घटनाओं’ पर अमेरिकी चिंता को सामने रखते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य चर्चित मामलों का इस्तेमाल कर मानवाधिकार हनन की प्रकृति, संभावना और दुर्दशा पर प्रकाश डालना है न कि मानवाधिकार हनन की हर घटित घटना की सूची पेश करना।’’ पसाकी ने कहा, ‘‘इसलिए यह न तो नीतियों में और न ही मान्यताओं में बदलाव का संकेत है।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You