फ्रांस की चेतावनी पर रूस का पलटवार, कहा- धमकी देना करे बंद

  • फ्रांस की चेतावनी पर रूस का पलटवार, कहा- धमकी देना करे बंद
You Are HereInternational
Thursday, March 06, 2014-12:02 PM

पेरिसः यूक्रेन संकट के कूटनीतिक समाधान के असफल होने पर फ्रांस ने रूस को प्रतिबंध की चेतावनी दी है। बुधवार को फ्रांस के विदेश मंत्री लौरेंट फैबियस ने रूस पर जल्द यूरोपीय प्रतिबंध आयद करने की चेतावनी दी। इस पर रूस के एक सीनियर जनप्रतिनिधि ने तीखा पलटवार करते हुए पश्चिम के शीर्ष नेताओं से मॉस्को को प्रतिबंध का डर दिखाकर धमकाना बंद करने का आग्रह किया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, समाचार चैनल बीएफएमटीवी से बात करते हुए फैबियस ने कहा कि गुरुवार को यूरोपीय नेता यूक्रेन पर आपात बैठक के दौरान मॉस्को पर प्रतिबंध लगा सकते हैं। इसके तहत वीजा पर सख्ती, व्यक्तिगत संपत्तियों और रूस के साथ आर्थिक समझौतों पर चल रही चर्चा रोकी जा सकती है।

फ्रांस के विदेश मंत्री ने कहा, "बातचीत का रास्ता खुल जाने दीजिए, लेकिन कल ही इयू शिखर वार्ता होगी और स्थिति सामान्य नहीं होने पर प्रतिबंध पर कल मतदान भी किया जा सकता है। मैं उम्मीद करता हूं और आशा है कि रूस आज हमें कहेगा कि सही गुट के साथ बातचीत की संभावना है।"

इस बीच पश्चिम से मॉस्को के खिलाफ रूसी संसद के ऊपरी सदन फेडरेशन काउंसिल की चेयरपर्सन वेलेंटिना मैटविएन्को ने प्रतिबंध आयद करने की धमकी देना बंद करने का आग्रह किया है, क्योंकि संभावित बहिष्कार द्विपक्षीय रूप से नुकसान देह होगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, मैटविएन्को ने कहा है, "रूस के प्रति धमकी और प्रतिबंध की भाषा पूरी तरह नुकसान देह है। यह समझ से दूर है कि किस तरह से प्रतिबंध रूस को वैश्विक आर्थिक प्रक्रिया से अलग-थलग कर देगा।"

उन्होंने यह भी कहा कि रूसी अर्थव्यवस्था वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ गहरे तौर पर जुड़ी है और रूस एवं पश्चिम के बीच होने वाले व्यापार से दोनों पक्षों को लाभ है, यह उल्लेख करते हुए कि रूस का 40 प्रतिशत आयात यूरोपीय संघ (इयू) से होता है और इसका 50 प्रतिशत निर्यात इयू को जाता है, मैटविएन्को ने कहा कि यह बात कल्पना से परे है कि किस तरह व्यापार का यह प्रवाह रोका जा सकता है।

उन्होंने कहा कि कोई भी जिम्मेवार राजनेता को रूसी और यूक्रेनी अर्थव्यवस्थाओं की एक-दूसरे से आवद्धता को समझना चाहिए और इसलिए मॉस्को को यूक्रेन के मामले से पृथक नहीं किया जा सकता है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You