आप इसे क्या कहेंगे? बहनों का प्यार या पागलपन

  • आप इसे क्या कहेंगे? बहनों का प्यार या पागलपन
You Are HereInternational
Sunday, March 09, 2014-3:10 PM

पर्थ: इसे आप चाहे दिमागी फितूर कहें, सुर्खियों में रहने की चाहत या बहनों का प्यार, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की दो जुडवां बहनों ने एक जैसी दिखने की ख्वाहिश में अपने होठों, गालों, भौंहों, पलकों आदि की सर्जरी में तकरीबन डेढ करोड़ रूपये खर्च किए और अब भी वे दोनों हर सप्ताह लगातार इसी के लिए हजारों डॉलर फूंक रही है।

ऑस्ट्रेलिया के पर्थ शहर में रहने वाली 28 साल लुसी और एना दसिंक की उम्र में मात्र एक मिनट का अंतर है। जन्म से ही दोनों एक जैसी दिखती थीं और माता-पिता भी इन्हें अक्सर एक जैसे ही कपड़े पहनाते थे। जैसे-जैसे इन दोनों की उम्र बढ़ती गई, इन पर एक जैसे दिखने का भूत सवार हो गया और इसी के लिए दोनों ने प्लास्टिक सर्जरी का सहारा लिया। इन बहनों ने अपने होठों का आकार एक जैसा कराया और नकली भौंहें तथा पलके बनवाईं। इन्होंने शरीर के अन्य हिस्सों को भी सर्जरी के माध्यम से एक जैसा कर लिया।

एक जैसी दिखने के जुनून के कारण आज दोनों एक जैसे कपड़े पहनती हैं, एक ही साथ रहती हैं, एक ही साथ सोती हैं, एक ही फेसबुक अकांउट है, एक ही नौकरी करती हैं, समान वेतन पाती हैं और तो और दोनों का ब्वॉयफ्रेंड भी एक ही है। इससे पहले दोनों के ब्वॉयफ्रेंड या तो दो भाई हुआ करते थे या गहरे दोस्त, लेकिन बाद में इन्होंने सोचा कि ब्वॉयफ्रेंड के मामले में भी समानता होनी चाहिए और दोनों ने एक ही व्यक्ति को अपना ब्वॉयफ्रेंड बनाया। फिलहाल दोनों बहनें अपनी मां के साथ रहती हैं। इनके पिता की 2010 में मौत हो गई थी। इनकी मां ने दोनों का प्यार देखकर इन्हें एक ही नर्सरी में, एक ही स्कूल में और एक ही कॉलेज में पढऩे के लिए भेजा था।

लुसी ने कहा, "मेरे पिता हम दोनों को देखकर हमेशाा असमंजस में रहते थे और उन्हें हर बार पूछना पड़ता था कि उनके सामने खड़ी लडकी कौन है, लेकिन हमारी मां हमें पहचान लेती है। मेरे गाल के छोटे तिल और एना के माथे पर घाव का दाग उन्हें हमारी पहचान बता देते हैं, लेकिन इसे सिर्फ मां ही पहचानती हैं। हमारे करीबियों को भी यह अंतर नहीं दिख पाता है। एना के माथे पर यह चोट बचपन में बाथरूम के दरवाजे से लगी थी।"

लुसी ने बताया,  "जब हमारे पिता को कैंसर हुआ और हम दोनों को घर में ज्यादा रहना पड़ा तो हमारा प्यार और गहरा हो गया। हमें उनकी देखभाल के लिए घर पर रहना होता था। हमें एक-दूसरे के साथ रहना पसंद है। हम एक दूसरे के मनोभावों को तत्काल समझ लेते हैं। मैं जो सोचती हूं, एना वही ड्रेस लेती है। उसे पता चल जाता है कि मुझे कौन सी ड्रेस पसंद है।"

एना ने कहा, "ऐसा नहीं है कि हम दोनों के बीच झगड़ा नहीं होता। पास होने से झगड़ा तो होता है, लेकिन हमारी सुलह बहुत जल्दी ही हो जाती है। हम दोनों एक ही जगह काम करते हैं। हमारा काम वृद्धाश्रम में बुजुर्गों की देखभाल करना है। हम एक नौकरी को आपस में बांट लेते हैं और घर एक ही वेतन लेकर आते हैं। वृद्धाश्रम में रहने वाले लोग भी हमें देखकर खुश रहते हैं। हम जहां भी जाते हैं, लोग हमें जरूर देखते हैं और हमें पसंद करते हैं।"

फिलहाल वे अपनी शक्ल सूरत और पूरे शरीर को एक जैसा दिखाते रहने के लिए अपनी पूरी कमाई हर सप्ताह इंफ्रारेड सौना, माइक्रोडर्माब्रैसन और स्कीन पील में खर्च करती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You