ओबामा ने कहा, ‘...इसलिए हम किसी भी जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देंगे’

  • ओबामा ने कहा, ‘...इसलिए हम किसी भी जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देंगे’
You Are HereInternational
Thursday, March 13, 2014-5:38 PM

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने यूक्रेन के क्रीमिया क्षेत्र के खुद में विलय के लिए रूस द्वारा ‘जल्दबाजी’ में जनमत संग्रह कराने की कोशिश को जोरदार तरीके से खारिज कर दिया है। यूक्रेन के प्रधानमंत्री अर्सेनी यातसेन्युक के साथ अपनी एक बैठक के साथ ओबामा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम क्रीमिया में रूसी सैनिकों के कब्जा करने के साथ कुछ ही हफ्तों में किए जाने वाले जनमत संग्रह को पूरी तरह खारिज करते हैं। हम इसकी वैधानिकता को खारिज करते हैं। यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों के विपरीत है। यह यूक्रेन के संविधान के विपरीत है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें पता है कि हमने रूसी संघ को यह कहते सुना है कि इस तरह के फैसले अक्सर दूसरी जगहों पर किए जाते हैं, और उन्होंने इस लिहाज से स्कॉटलैंड या इस तरह की दूसरी स्थितियों से इसकी तुलना की है। उन्होंने जो भी मामले सामने रखे हैं, उनमें राष्ट्रीय सरकारों ने एक लंबे, विस्तृत प्रक्रिया के माध्यम से फैसले किए थे। यह कुछ दिनों में नहीं हुआ था, और जब कोई बाहरी सेना क्षेत्र में कब्जा किए हो तब ऐसा नहीं होता।’’

उन्होंने कहा कि रूस सैन्य रूप से किसी दूसरे देश के एक क्षेत्र पर कब्जा किए हैं, जल्दबाजी मेंं जनमत संग्रह करा रहा है और ना केवल यूक्रेन के संविधान, बल्कि वहां की सरकार को भी नजरअंदाज कर रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘इसलिए हम किसी भी जनमत संग्रह को मान्यता नहीं देंगे।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You