पाक में बाल विवाह के फतवे पर नवाज की मुहर!

  • पाक में बाल विवाह के फतवे पर नवाज की मुहर!
You Are HereInternational
Friday, March 14, 2014-11:02 AM

इस्लामाबाद: खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ एक मुस्लिम संगठन की मांग के चलते बाल विवाह विरोधी कानून को हटाने की तैयारी में हैं। इसी के साथ ही पहली पत्नी की मर्जी के बिना दूसरी शादी को अवैध मानने वाले कानून में भी संशोधन किए जाने की चर्चा है। कहा जा रहा है कि नवाज ने इस संबंध में मंजूरी भी दे दी है।

कहा जा रहा है कि शरीफ ने यह कदम काउंसिल ऑफ इस्लामिक आइडियोलॉजी (सीआईआई) के फतवे के जारी होने के बाद उठाया है, जिसमें उसने बाल विवाह विरोधी कानून को इस्लाम के खिलाफ बताया था और किसी भी उम्र में शादी किए जाने की वकालत की थी। इस्लामाबाद में हुई सीआईआई की 191वीं बैठक में यह फतवा जारी किया गया था।                            

सीआईआई चेयरमैन मौलाना मुहम्मद खान शीरानी ने शादी संबंधी कानूनों को नाजायज बताते हुए कहा कि शादी के लिए कम से कम उम्र जैसे प्रावधान नहीं होने चाहिए। इस फतवे से एक दिन पहले ही सीआईआई चेयरमैन ने पहली पत्नी की इजाजत से दूसरी शादी के कानून को भी धार्मिक उसूलों के खिलाफ बताया था। उन्होंने कहा था, 'शरिया (इस्लामी कानून) एक से अधिक बीवियां रखने की इजाजत देता है और हम सरकार से कानून में संशोधन की मांग करते हैं।'

इस फैसले को लेकर पाक के कई तबकें नाराज हैं। खासतौर पर युवा, सोशल मीडिया और प्रगतिशील धड़े के लोग इसके विरोध में खड़े हो गए हैं। पाकिस्तान में लड़कियों के लिए बालिग आयु 15 वर्ष है। सोशल मीडिया पर लिख रहे लोगों का कहना है कि इन कानूनों का हटाया जाना पाकिस्तानी समाज को पीछे ही ले जाएगा। सीआईआई के मौलवी बहुत जल्द धार्मिक मामलों के मंत्रालय के अधिकारियों से मिलने वाले हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You