जानबूझकर बंद की गई थी लापता विमान की संचार प्रणाली

  • जानबूझकर बंद की गई थी लापता विमान की संचार प्रणाली
You Are HereInternational
Sunday, March 16, 2014-1:38 AM

कुआलालंपुर: लापता विमान की तलाश में लगे मलेशियाई जांचकर्ताओं को संदेह है कि विमान की संचार प्रणाली जानबूझकर बंद की गई थी तथा विमान के तय मार्ग से मुडऩे से पहले उसके ट्रांसपांडर को बंद कर दिया गया था और उसके बाद विमान सात घंटे से अधिक समय तक उड़ता रहा। 239 लोगों के साथ मलेशिया एयरलाइंस के विमान के गत शनिवार को लापता होने के बाद पहली बार मीडिया के सामने आये मलेशियाई प्रधानमंत्री नजीब रजाक यह कहते कहते रूक गए कि यह एक अपहरण है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम यह पता लगाने के लिए सभी संभावनाओं की जांच कर रहे हैं कि उड़ान संख्या एमएच 370 किस कारण से अपने तय मार्ग से मुड़ा।’’ नजीब के इस बयान से लापता विमान के बारे में इस अटकल की पुष्टि हुई है कि यह किसी दुर्घटन का शिकार नहीं हुआ था क्योंकि जांच के दायरे में अब विमान के चालक दल के सदस्य और उसके यात्री आएंगे। प्रधानमंत्री के बयान के कुछ ही समय बाद पुलिस लापता विमान के कैप्टेन जहारी अहमद शाह के घर गए। अधिकारियों ने बताया कि दो पुलिस अधिकारी उपनगरीय क्षेत्र स्थित 53 वर्षीय कैप्टेन जहारी शाह आलम के घर पहुंचे। अधिकारियों ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी नहीं मुहैया करायी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You