मलेशियाई विमान: कॉकपिट में मौजूद लोगों पर जांच हुई केंद्रित

  • मलेशियाई विमान: कॉकपिट में मौजूद लोगों पर जांच हुई केंद्रित
You Are HereInternational
Sunday, March 16, 2014-5:16 PM

कुआलालंपुर: जांचकर्त्ताओं ने अपनी जांच का केंद्र ‘कॉकपिट में मौजूद’ उन लोगों को बना लिया है, जो रडार की पकड़ में आने से बचना जानते थे। इसी क्रम में जांचकर्त्ता चालक के घर से मिले उड़ान सिमुलेटर की जांच कर रहे हैं। इस लापता विमान में कुल 239 लोग सवार थे। प्रधानमंत्री नजीब रज्जाक द्वारा विमान के भटकने के पीछे ‘विमान में सवार’ किसी व्यक्ति का हाथ बताए जाने के कुछ ही समय बाद लापता विमान एमएच 370 के चालक कैप्टन जाहरी अहमद शाह के घर की तलाशी ली गई थी।

परिवहन मंत्रालय द्वारा जारी बयान में आज कहा गया, ‘‘अधिकारियों ने चालक के परिवार के सदस्यों से बात की और विशेषज्ञ चालक के उड़ान सिमुलेटर की जांच कर रहे हैं। 15 मार्च को पुलिस ने सह चालक के घर की भी तलाशी ली।’’ 18,365 घंटे की उड़ानें भर चुके 53 वर्षीय कैप्टन जाहरी विमान प्रशिक्षक भी हैं। 8 मार्च को विमान के संदिग्ध रूप से गायब हो जाने के बाद से वे खबरों में हैं। उनके घर से मिले फ्लाइट सिम्युलेटर पर भी मीडिया में सवाल उठ रहे थे।

अधिकारियों ने कहा कि पुलिस चालकों की निजी, राजनैतिक और धार्मिक पृष्ठभूमि की भी जांच कर रही है। ताजा निर्देशों के इंतजार में भारत ने लापता विमान के खोज अभियानों पर फिलहाल रोक लगा दी है। अंडमान और निकोबार कमांड प्रवक्ता कर्नल हरमीत सिंह ने कहा कि खोज अभियान में शामिल पांच युद्धपोत और छह निगरानी विमानों पर फिलहाल रोक लगा दी गई है और ‘‘हम मलेशिया से ताजा निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं।’’ इसी बीच सीएनएन ने कहा कि सहचालक हामिद के घर पर दो वैनें छोटे बैगों से भरी पाई गई थीं।

चैनल ने एक अमेरिकी कानून प्रवर्तन अधिकारी के हवाले से कहा, ‘‘जांचकर्त्ता विमान चालकों के बारे में अब तक एकत्र हुई सूचना की सावधानीपूर्वक समीक्षा कर रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या किसी योजना या उद्देश्य के संकेत हैं?’’ सीएनएन ने अमेरिकी अधिकारी के हवाले से कहा, ‘‘अधिकारी कई दिनों से विमान चालक और सहचालक के घर की तलाशी के लिए वजह तलाश रहे थे। लेकिन पिछले 24 से 36 घंटों में रडार और उपग्रह के आंकड़े सामने आने पर उन्होंने माना कि चालकों के आवासों की जांच के लिए पर्याप्त वजहेें हैं।’’

रिपोर्ट में कहा गया कि यह स्पष्ट नहीं है कि विमान के गायब होने की वजहों के पीछे मलेशिया की सरकार एक व्यक्ति को जिम्मेदार मानती है या दोनों को। मीडिया में आई कुछ खबरों के अनुसार, कैप्टन जाहरी विपक्षी नेता अनवर इब्राहिम का ‘जुनूनी’ समर्थक था। इब्राहिम को उड़ान वाले दिन से एक दिन पहले पांच साल के कैद की सजा मिली थी। खबरों मेंं कहा गया कि कोई अंतिम निष्कर्ष नहीं तय किया गया है और आतंरिक खुफिया चर्चाएं अब तक सामने आई घटनाओं के शुरूआती आंकलन पर आधारित हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You