पायलटों ने एक साथ उड़ान से किया था मना: मलेशियाई मंत्री

  • पायलटों ने एक साथ उड़ान से किया था मना: मलेशियाई मंत्री
You Are HereInternational
Monday, March 17, 2014-1:13 PM

कुआलालंपुर: बीजिंग के लिए यहां से उड़ान भरने के बाद रास्ते से गायब हो गए मलेशिया एअरलाइंस के विमान के दो पायलटों ने एक साथ काम करने से मना किया था। मलेशिया के कार्यवाहक परिवहन मंत्री हिशमुद्दीन हुसैन ने रविवार को एअरलाइंस के अधिकारियों के हवाले से यह दावा किया। विमान 8 मार्च से लापता है।

पुलिस ने शनिवार को विमान के कैप्टन जहारिए अहमद शाह के घर की तलाशी ली थी। इससे थोड़ी देर पहले ही देश के प्रधानमंत्री दातुक सेरी नजीब तुन रज्जाक ने पुष्टि की थी कि विमान को संभवत: जानबूझकर मोड़ा गया और संभवत: दक्षिणी की तरफ हिंद महासागर या उत्तर की तरफ कजाखस्तान की तरफ ले जाया गया होगा।

जांच के दायरे में अब ग्राउंड स्टाफ के साथ ही साथ लापता विमान एमएच370 के चालक दल के सदस्य और यात्री होंगे। इस आशय की घोषणा पुलिस महानिरीक्षक तान सेरी खालिद अबू बकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में की।

सरकार ने यह भी कहा कि दो पायलटों के घर की तलाशी नियमित प्रक्रिया के तहत की गई है और अधिकारी अभी भी कैप्टर के घर से मिले फ्लाइट सिमुलेटर की जांच में जुटे हैं। मलेशिया एअरलाइंस का विमान एमएच 370 कुआलालंपुर से 8 मार्च को 239 सवारों के साथ रवाना हुआ था और उड़ान भरने के एक घंटे बाद उसका संपर्क टूट गया।

इससे पहले माना जा रहा था कि विमान वियतनाम तट के समीप दक्षिण चीन सागर में गिर गया होगा। विमान में सवार 227 यात्रियों में पांच भारतीय, 154 चीनी और 38 मलेशियाई व अन्य शामिल थे। विमान के साथ संपर्क जिस समय भंग हुआ उस समय वह वियतनाम के हो ची मिन्ह शहर के वायु यातायात नियंत्रण की सीमा में उड़ान भर रहा था। विमान की तलाश में दुनिया के कई देश जुटे हैं, लेकिन अभी तक उसका कहीं अता-पता नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You