रूस ने किया अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन!

  • रूस ने किया अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन!
You Are HereInternational
Wednesday, March 19, 2014-10:11 AM

वॉशिंगटन: क्रीमिया को खुद में मिलाने के रूस के कदम की निंदा करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने अंतरराष्ट्रीय निरीक्षकों को तत्काल यूक्रेन भेजने पर सहमति जताई।

ओबामा और एंजेला के बीच टेलीफोन पर बातचीत होने के बाद व्हाइट हाउस ने कल कहा, ‘‘नेताओं ने क्रीमिया को खुद में मिलाने के रूस के कदम की निंदा की। यह कदम अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।"

व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्होंने इस बात पर सहमति जताई कि ‘ऑर्गनाइजेशन फॉर सिक्योरिटी कोऑपरेशन इन यूरोप’ और संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय निरीक्षकों को तत्काल दक्षिणी और पूर्वी यूक्रेन भेजना महत्वपूर्ण है।’’ ओबामा और मर्केल ने यूक्रेन संकट के हल के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर राजनयिक माध्यमों से इस तरह दबाव बनाते रहने पर सहमति जताई, जिससे रूस और यूक्रेन दोनों देशों की जनता के हितों की रक्षा होगी। इस बीच, यूक्रेन से रूसी सैनिकों को वापस बुलाने के लिए मॉस्को पर दबाव बनाने में नाकाम रहे अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि मॉस्को गलत राह पर जा रहा है।

केरी ने कल विदेश मंत्रालय के एक आयोजन के दौरान कहा, ‘‘रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के पास इतिहास के लिए भले ही अपना नजरिया हो, लेकिन मैं मानता हूं कि उन्होंने और रूस ने जो किया है उसके बाद वह इतिहास के गलत रास्ते पर हैं।’’ मॉस्को में पुतिन के भाषण के तत्काल बाद केरी ने कहा कि राष्ट्रपति ने तथ्यों को जिस तरह पेश किया, उससे वह आश्चर्यचकित और निराश हैं।

एक सवाल के जवाब में केरी ने कहा कि पुतिन ने अपने भाषण में कहा कि वह इस मुद्दे को लेकर पूर्व और पश्चिम के बीच संघर्ष की कल्पना नहीं करते, रूसियों और यूक्रेन वासियों के बीच ऐतिहासिक संबंध हैं और वह देखना चाहते हैं कि क्या वे भविष्य में इस मुद्दे का शांतिपूर्ण तरीके से समाधान कर सकते हैं।

उधर व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने कल संवाददाताओं से कहा कि यूक्रेन के प्रांत क्रीमिया को खुद में मिलाने के रूस के कदम से मॉस्को की विश्वसनीयता अंतरराष्ट्रीय स्तर बुरी तरह प्रभावित हुई है। कार्नी ने कहा, ‘‘सामान्य रूप से इन कार्रवाइयों के चलते रूस की विश्वसनीयता अंतरराष्ट्रीय स्तर बुरी तरह प्रभावित हुई है। क्रीमिया में रूसियों ने जो किया वह सिद्धांतों का उल्लंघन है। प्रेस सचिव ने रूस को उसकी कार्रवाई का परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहने की चेतावनी भी दी। प्रतिबंध बढ़ा दिए जाएंगे और भी कदम उठाए जाएंगे।’’

उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि जनमत संग्रह के परिणाम के तौर पर की गई कार्रवाई और यूक्रेन के एक हिस्से को अवैध तरीके से खुद में मिलाने की रूस की कोशिश को अमेरिका या अंतरराष्ट्रीय समुदाय कभी मान्यता नहीं देगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You