ऐसी दीवानगी देखी नहीं कहीं, कुत्ते के लिए की सारी हदें पार

  • ऐसी दीवानगी देखी नहीं कहीं, कुत्ते के लिए की सारी हदें पार
You Are HereInternational
Wednesday, March 19, 2014-3:59 PM

हफिंगटन: कई लोगों को जानवरों के साथ अपने बच्चों जैसा ही लगाव होता है। वह उनकी देखभाल भी अपने बच्चों जैसे ही करते हैं। कुछ ऐसे ही हैं पॉल ओ ग्रेडी। वह कुत्तों को पालने के शौकीन रहे हैं। वर्ष 2009 में पॉल के एक कुत्ते की कैंसर से मौत हो गई थी।

डेली मेल के अनुसार, दो साल बाद पॉल ने फिर से एक कुत्ते को पाल लिया और इस कुत्ते का नाम उन्होंने ओल्गा रखा। पॉल एक चैट शो के एंकर थे, वह प्रोग्राम रिकार्ड करते समय भी अपने कुत्ते को साथ ही रखते थे। ओल्गा के कारण पॉल ने अच्छी खासी चर्चा भी बटोरी, लेकिन कुछ दिनों बाद उन्हें पता चला कि ओल्गा को भी कैंसर है और 18 महीनों के बाद उसकी जान चली जाएगी।

पॉल नहीं चाहते थे कि उन्हें एक बार फिर वहीं दुख झेलना पड़े। ओल्गा के साथ पॉल का रिश्ता इतना गहरा हो चुका था कि पॉल ने अपने कुत्ते का इलाज करवाने की सोच ली। पॉल ने ओल्गा का कैंसर ट्रीटमेंट करने के लिए सर्जरी और कीमोथेरेपी का रास्ता अपनाया। महंगा इलाज भी पॉल के लिए कोई मायने नहीं रखता था इसलिए उसने कुत्ते के सही इलाज के लिए आठ लाख से ज्यादा खर्च कर दिए।

कीमोथेरेपी और सर्जरी के बाद ओल्गा अब बिल्कुल ठीक है। इसके अलावा पॉल के पास बुलसी, लुइस और एडी नाम से और पालतू कुत्ते हैं, लेकिन ओल्गा उन्हें सबसे खास है। कैंसर जैसी बीमारी को मात देने के बाद पॉल अपने कुत्ते के साथ खुश हैं और टीवी शो में वापसी कर चुके हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You